image

नई दिल्ली : सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण के कथित हितों के टकराव के मामले में प्रशासकों की समिति उसी तरह से ‘पूर्ण खुलासे’ की सिफारिश कर सकती है जैसा कि उसने पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के मामले में किया गया था। बीसीसीआई के लोकपाल डीके जैन ने लक्ष्मण और तेंदुलकर को नोटिस भेजकर उन्हें आईपीएल फ्रेंचाइजी टीमों के मेंटर और क्रिकेट सलाहकार समिति सीएसी के सदस्य के रूप में भूमिका को लेकर कथित हितों के टकराव के मामले में लिखित जवाब देने के लिये कहा है। सीएसी के तीनों सदस्य हितों के टकराव मामले के दायरे में आ गये हैं।

READ NEWS : CSKvsMI : आज बेस्ट vs बेस्ट का होगा मुकाबला, इस टीम का पलड़ा हो सकता है भारी

ऐसे में सीओए इस समिति के भविष्य को लेकर चर्चा करेंगे। सीओए की 27 अप्रैल को यहां बैठक होगी जिसमें कई मसलों पर चर्चा होगी। इसमें तेंदुलकर और लक्ष्मण से जुड़े मामले में जवाब देने पर भी चर्चा होने की संभावना है। इन दोनों को 28 अप्रैल को अपना जवाब देना होगा। गांगुली और तेंदुलकर अपनी फ्रेंचाइजी टीमों के लिये ‘स्वैच्छिक आधार’ पर काम कर रहे हैं, जबकि लक्ष्मण के सनराइजर्स हैदराबाद के साथ पेशेवर संबंधों की शर्तों का पता नहीं चल पाया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: COA meeting will be talk on the collision of the interests of Tendulkar-VVS Laxman

More News From sports

IPL 2019 News Update
free stats