image

हैमिल्टन : भारत का न्यूजीलैंड में पहली टी20 सीरीज जीतने का सपना टूट गया। लेकिन ये सीरीज टीम इंडिया के लिए कई सकारात्मक पहलु भी लेकर आई है। टी20 सीरीज में आल राउंडर विजय शंकर को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया। उन्होंने अंतिम मैच में 28 गेंद में 43 और सीरीज के पहले मैच में 23 रन बनाये। लेकिन शंकर ने कहा कि तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतारा जाना उनके लिये हैरानी भरा था और आस्ट्रेलिया व न्यूजीलैंड के पहले दौरे के बाद वह काफी सुधरे क्रिकेटर के तौर पर स्वदेश लौटेंगे। शंकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में से दो में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी की।

READ NEWS : VIDEO : यूं ही नहीं पूरी दुनिया है धोनी की फैन, उन्होंने जो किया उसे देखकर पूरा इंडिया कर रहा सलाम

उन्होंने वनडे में पदार्पण आस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में किया था और न्यूजीलैंड के खिलाफ वह पांच वनडे में से तीन में और सभी टी20 मैचों में खेले थे। 28 साल के खिलाड़ी ने हालांकि विश्व कप स्थान के लिये दावेदारी बनाने के लिये मजबूत प्रदर्शन भले ही नहीं किया हो, लेकिन उन्होंने अपनी हरफनमौला काबिलियत से प्रभावित किया। शंकर ने कहा कि वह बल्लेबाजी क्रम में ऊपर खेलना पसंद करेंगे। उन्होंने तीसरे टी20 में चार रन की हार के बाद कहा, ‘‘यह मेरे लिये बहुत हैरानी की बात थी, जब उन्होंने मुझे तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये कहा। यह बड़ी चीज है। मैं इस स्थिति में खेलने के लिये तैयार था।

READ NEWS : INDvsNZ : वो दो गेंदें जो बदल सकती थीं मैच का फैसला, एेसा रहा आखिरी ओवर का हाल

अगर आप भारत जैसी टीम के लिये खेल रहे हो तो आपको हर चीज के लिये तैयार रहना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ इन दोनों श्रृंखलाओं से मैंने काफी कुछ सीखा। मैंने भले ही ज्यादा गेंदबाजी नहीं की हो, लेकिन मैंने विभिन्न हालात में गेंदबाजी करना सीखा। बल्लेबाजी में विराट कोहली, रोहित शर्मा और महेंद्र सिंह धोनी जैसे सीनियर खिलाड़ियों को देखने से मैंने काफी कुछ सीखा।’’

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Vijay Shankar says, I Was shocked for batting at number three position

More News From sports

Next Stories
image

free stats