image

नई दिल्ली: आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 का फाइनल बॉलीवु़ड की एक फिल्म के टिकट में 100 फिल्मों जितना मजा देने वाला साबित हुआ। इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को ज्यादा बाउंड्री मार कर विश्व कप विजेता का ताज अपने नाम कर लिया। बाउंड्री के इस गजब नियम से विजेता चुने जाने के बाद भारत के गौतम गंभीर समेत पूर्व क्रिकेटरों ने चौके छक्के गिनकर विश्व कप विजेता का निर्धारण करने वाले आईसीसी के ‘हास्यास्पद’ नियम की जमकर आलोचना की।

इंग्लैंड ने मैच में 22 चौके और दो छक्के लगाये जबकि न्यूजीलैंड ने 16 चौके लगाये। न्यूजीलैंड के पूर्व हरफनमौला डियोन नैश ने कहा ,‘‘ मुझे लग रहा है कि हमारे साथ छल हुआ है, यह बकवास है। सिक्के की उछाल की तरह फैसला नहीं हो सकता। नियम हालांकि पहले से बने हुए हैं तो शिकायत का कोई फायदा नहीं।’’

गंभीर ने ट्विटर पर लिखा ,‘‘ समझ में नहीं आता कि विश्व कप फाइनल जैसे मैच के विजेता का निर्धारण चौकों छक्कों के आधार पर कैसे हो सकता है। हास्यास्पद नियम, यह टाई होना चाहिये था। मैं न्यूजीलैंड और इंग्लैंड दोनों को बधाई देता हूं।’’ 

विश्व कप 2011 के प्लेयर आफ द टूर्नामेंट रहे युवराज सिंह ने लिखा, ‘‘मैं नियम से सहमत नहीं हूं लेकिन नियम तो नियम है। इंग्लैंड को आखिरकार विश्व कप जीतने पर बधाई। मैं न्यूजीलैंड के लिये दुखी हूं जिसने अंत तक जुझारुपन नहीं छोड़ा। शानदार फाइनल।’’  

न्यूजीलैंड के पूर्व हरफनमौला स्काट स्टायिरस ने लिखा ,‘‘ शानदार काम आईसीसी, आप एक लतीफा हो।’’ 

आस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोंस ने लिखा ,‘‘ डकवर्थ लुईस प्रणाली रन और विकेट पर निर्भर है। इसके बावजूद फाइनल में सिर्फ चौकों छक्कों को आधार माना गया, मेरी राय में यह गलत है।’’  
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: The former New Zealand cricketer on the ICC boundary rule said, - Cheating with us

More News From sports

Next Stories
image

free stats