image

नई दिल्ली: आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल में भारतीय टीम की हार के बाद नाराजगी और आलोचनाओं का दौर जारी है। इसी दौर में टीम मैनेजमेंट पर अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाने का आरोप लगा रहा है। भारतीय टीम और कोचिंग स्टाफ की काफी आलोचना हो रही है। मुख्य कोच रवि शास्‍त्री और कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद 45 और दिन के लिए बढ़ा दिया गया है, लेकिन इन सभी में एक कोच के प्रदर्शन पर पैनी नजर रखी जा रही है।

शोएब अख्तर ने कहा - धोनी करते ऐसा तो जीत सकता था इंडिया

दरअसल, टीम इंडिया के सहायक कोच संजय बांगड़ के बारे में भारतीय क्रिकेट बोर्ड के कुछ लोगों का मानना है कि उन्होंने अपनी जिम्मेदारी ठीक तरह से नहीं निभाई है। वे इससे कहीं बेहतर काम कर सकते थे। आम धारण ये है कि भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण की अगुआई में गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया, वहीं फील्डिंग कोच आर श्रीधर के होने का असर भी टीम की फील्डिंग पर देखने को मिला है जो पहले से काफी सुधरी है। 

INDvsNZ: हार के दो दिन बाद आए रोहित के ट्वीट ने की आंखे नम

मगर यही बात बल्लेबाजी इकाई के बारे में नहीं कही जा सकती, खासकर इसे लेकर भी काफी सवाल उठाए जा रहे हैं कि टीम के अंदर नंबर चार पर किसी एक बल्लेबाजी की भूमिका तय ही नहीं हो सकी। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने फोन पर IANS को बताया कि मध्यक्रम में लगातार बदलाव के चलते टीम इंडिया को काफी नुकसान पहुंचा और ऐसा सिर्फ वर्ल्ड कप में ही नहीं हुआ बल्कि पिछले कुछ सीजन से यही स्थिति चली आ रही है और बांगड़ इसका कोई समाधान निकाल पाने में असफल साबित हुए हैं।

इस खिलाड़ी के बचाव में उतरे युवराज कहा- गलती से सीखेगा

यहां तक कि बांगड़ ने नंबर चार के लिए चुने गए विजय शंकर को बिल्कुल फिट बताया था वो भी तब जबकि उसके अगले ही दिन वह चोट के चलते वर्ल्ड कप से बाहर हो गए। बीसीसीआई को यह बात भी नागावार गुजरी है। बीसीसीआई के अधिकारी ने बताया कि ऐसे में जबकि हम खिलाड़ियों के साथ पूरी तरह खड़े हैं, जिन्होंने टूर्नामेंट में एक खराब दिन को छोड़कर अच्छा प्रदर्शन किया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Sanjay Bangar might be no longer member of Indian Team!

More News From sports

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats