image

मुंबई : मुंबई की टीम 2018-19 के घरेलू सत्र में पिछले दो वर्षों में विजय हजारे ट्रॉफी के रूप में एकमात्र खिताब जीत पाई है। इसके अलावा टीम का प्रदर्शन खराब ही रहा है। मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के चेयरमैन अजीत अगरकर के नेतृत्व में पूरी चयन समिति ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। घरेलू सीजन 2018-19 के समाप्त होने के एक दिन बाद ही निलेश कुलकर्णी, सुनील मोरे और रवि थक्कर सहित पूरी चयन समिति ने अपने पद से इस्तीफा दिया। चयनकर्ताओं का सामूहिक इस्तीफा उस घटनाक्रम के एक दिन बाद आया है जिसमें कहा जा रहा था कि एमसीए की तदर्थ समिति की बैठक पूरी चयन समिति को बर्खास्त करने का प्रस्ताव पास करने के लिए होनी है।

READ NEWS : IPL12 : सीएसके के खिलाड़ियों का नहीं होगा यो-यो टेस्ट, जानें वजह

माना जा रहा है कि चयनकर्ताओं ने अपने इस्तीफे तदर्थ समिति और एमसीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सी.एस. नाइक को भेज दिए हैं। पिछले महीने एमसीए की विशेष आम बैठक के दौरान कई सदस्यों ने चयनकर्ताओं को उनके पदों से हटाने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया था। एमसीए की क्रिकेट सुधार समिति ने यह कहते हुए इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया था कि चयन पैनल की प्रतिबद्धता पर सवाल नहीं उठाया जा सकता। इसके बाद तदर्थ समिति ने इस मामले पर कानूनी राय मांगी थी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Mumbai selectors resign collectively

More News From sports

IPL 2019 News Update
free stats