image

लाहौर : पाकिस्तान के मुख्य कोच मिकी आर्थर 27 बरस की उम्र के मोहम्मद आमिर के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के फैसले से हैरान नहीं हैं, क्योंकि उनका मानना है कि स्पाट फिक्सिंग प्रकरण में प्रतिबंध से लंबे प्रारूप में इस तेज गेंदबाज के करियर को काफी नुकसान पहुंचा। इंग्लैंड में 2010 में स्पाट फिक्सिंग केस में भूमिका के लिए आमिर को पांच साल के लिए प्रतिबंधित किया गया था। उन्होंने 2015 में खेल के सभी प्रारूपों में वापसी की, लेकिन अपने करियर में 36 टेस्ट में 119 विकेट हासिल करने के बाद शुक्रवार को इस तेज गेंदबाज ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया। आर्थर ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से कहा, ‘‘वह पांच साल तक खेल से दूर रहा.. इन पांच साल में उसने कुछ नहीं किया।

READ NEWS : नेमार को मिली बड़ी राहत, सबूतों के अभाव में रेप के आरोप का मामला खत्म

उसका शरीर टेस्ट क्रिकेट की कड़ी परीक्षा के लिए तैयार नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका श्रृंखला के दौरान हम उसे लेकर जितना जोर दे सकते थे उतना दिया क्योंकि वह इतना अच्छा गेंदबाज है कि हम इन दौरों पर उसे टीम में चाहते थे। आमिर के साथ जो कुछ भी संभव था वह हमने किया।’’ आर्थर ने कहा, ‘‘वह इन पांच वर्षों का इस्तेमाल बेहतर तरीके से कर सकता था। स्पाट फिक्सिंग स्वीकार करने वाला वह पहला व्यक्ति था। लेकिन यह उसके लिए मुश्किल समय था और मैं इसे समझ सकता हूं।’’
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Mickey Arthur is not surprised by the retirement of Mohammad Aamir's Test cricket

More News From sports

Next Stories
image

free stats