image

नई दिल्ली: आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में विजयी होने वाली टीम इंग्लैंड का एक प्लेयर ऐसा था जिसने वर्ल्ड कप के लिए अपनी भावनाओं को भी दबा कर रख दिया था। अपनी तेज रफ्तार और सटीक लाइन लेंथ के दम पर इंग्लैंड को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले जोफ्रा आर्चर के चचेरे भाई की बारबाडोस में हत्या कर दी गई। जोफ्रा के भाई एशेंटियो ब्लैकमैन महज 24 साल के थे और जिस दिन इंग्लैंड ने वर्ल्ड कप में अपना पहला मैच खेला था, उसी के अगले दिन उन्हें घर के बाहर गोली मार दी गई। अपने चचेरे भाई की हत्या की खबर सुनकर जोफ्रा के पैरों तले जमीन खिसक गई थी और वो सदमे में चले गए थे।

CWC: वर्ल्ड कप के दौरान अखबार की झूठी खबर पर क्रिस गेल का दावा, अब मिलेंगे इतने करोड़

दरअसल जोफ्रा और एशेंटियो ब्लैकमैन एक-दूसरे के काफी करीब थे, हत्या से कुछ दिन पहले आर्चर ने उनसे बात भी की थी। जोफ्रा आर्चर इस घटना से काफी दुखी थे लेकिन इसके बावजूद उन्होंने वर्ल्ड कप पर पूरा ध्यान केंद्रित किया और महज 11 मैचों में 20 विकेट अपने नाम किए। फाइनल मैच में जोफ्रा आर्चर ने सुपरओवर भी फेंका और इंग्लैंड को वर्ल्ड चैंपियन बनाया। आर्चर के पिता फ्रैंक ने टाइम्स से बातचीत करते हुए कहा, 'आर्चर का भाई उनका हम उम्र था, वो काफी करीब थे। उसकी मौत से पहले आर्चर ने उसे मैसेज किया था। जोफ्रा को ब्लैकमैन की मौत से सदमा पहुंचा था लेकिन उन्होंने खेलना जारी रखा।'

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: During the World Cup the news of brother's death had shaken the bowler jofra archer

More News From sports

Next Stories
image

free stats