image

नई दिल्ली : ट्विटर के CEO द्वारा संसदीय समिति के समक्ष पेश होने को कहा था लेकिन कंपनी के अधिकारियों ने कम समय का हवाला देकर आने से इनकार कर दिया था। संसदीय समिति ने अब 25 फरवरी को दोबारा जैक डोर्सी को समिति के समक्ष पेश होने के लिए कहा है। इस बार समिति ने कंपनी के जूनियर अधिकारियों से मिलने से मना कर दिया है। इस बात की जानकारी सूचना प्रौद्दोगिकी विभाग पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष अनुराग सिंह ठाकुर ने दी है। बता दें कि ट्वीटर के मुख्य कार्यकारी को 11 फरवरी को 'सोशल या ऑनलाइन मीडिया मंचों पर नागरिकों के अधिकारों की रक्षा' विषय पर समिति की बैठक में उपस्थित होना था लेकिन वह उपस्थित नहीं हुए।

Youtube ने यूं कसी गलत वीडियोज़ पर लगाम, नहीं करेगा यह काम

अनुराग ठाकुर ने कहा कि ट्विटर प्रमुख एवं अन्य प्रतिनिधियों को 25 फरवरी को पेश होने के लिये कहा गया है। शनिवार को ट्विटर ने एक बयान जारी कर डोर्सी के इतने कम अवधि के नोटिस पर समिति के समक्ष पेश होने में असमर्थता जताई थी। सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान ट्विटर के स्थानीय कार्यालय के प्रतिनिधि समिति के समक्ष पेश होने के लिए संसद की एनेक्सी में पहुंचे थे लेकिन उन्हें बैठक में नहीं बुलाया गया।

Indigo का टिकट बुकिंग पर बंपर ऑफ़र, 899 रुपये में ले हवाई सफ़र का मज़ा

समिति की बैठक पहले 7 फरवरी को होने वाली थी। ट्विटर सीईओ और अन्य अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए इसे टालकर बैठक की तिथि 11 फरवरी कर दी गई थी। सूत्रों का कहना है कि सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक के प्रमुखों को भी समिति बुला सकती है। लेकिन अभी इस पर कोई अंतिम निर्णय नहीं हुआ है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Twitter CEO to appear before the parliamentary committee on February 25

More News From business

free stats