image

नई दिल्ली: जेट एयरवेज के बंद होने से करीब 22 हजार लोग बेरोजगार हो गए हैं. प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों ने पीएम नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है। बता दें कि जेट एयरवेज के हजारों कर्मचारियों को छह महीने तक का वेतन नहीं मिला है। जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने गुरुवार को भी जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया था। 

25 अप्रैल को भारत में लॉन्च होगा Xolo ZX, जानें क्या खास

इस दौरान कर्मचारियों ने कहा कि वह प्रदर्शन नहीं प्रार्थना कर रहे हैं कि जेट एयरवेज एक बार फिर उड़ान भरने लगे और इसमें काम करने वाले हजारों लोगों को मेहनताना मिले। कर्मचारियों की मदद के लिए सोसाइटी फॉर वेलफेयर ऑफ इंडियन पायलट्स ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है।

महाराष्ट्र में लॉन्च हुई बजाज क्यूट क्वाड्रिसाइकल, जानें क्या रहेगी कीमत

जेट एयरवेज लगभग 8,500 करोड़ रुपए के कर्ज में डूबी है कंपनी ने बुधवार रात 12 बजे से अपनी सारी सेवाएं अनिश्चित समय के लिए बंद कर दी हैं। इसके पीछे जेट ने कहा है कि उसे फ्यूल और अन्य सुविधाएं जुटाने के लिए पैसे की कमी हो रही थी जिसके बाद कंपनी ने यह निर्णय लिया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Thousands of employees protesting in Jantar mantar to save jet airways

More News From business

Next Stories

image
free stats