image

नई दिल्ली: कंपनी के चलते, नौकरी के चलते या फिर किन्हीं और कारणों के चलते हम एक से ज्यादा बैंक अकाउंट खोल लेते हैं। नए खाते खोलते जाते हैं और पुराने खाते बंद नहीं करते हैं। कब यह पुराने खाते जिन्हें आपने बंद नहीं करवाया था इनकी वजह से आपका बड़ा नुकसान हो गया आप जान भी नहीं पाएंगे। बैंक में इन पुराने खुले खातों से कोई छेड़-छाड़ कर के भी आपके साथ धोखाधड़ी कर सकता है। 

सैलरी अकाउंट

अगर आप नौकरी के चलते कंपनी बदलते हैं और इस वजह से आपको हर बार किसी नए बैंक में सैलरी अकाउंट खुलवाना पड़ता है तो क्या आप जानते हैं कि आपको इस वजह से पेनल्टी पड़ सकती है। बता दें कि किसी भी सैलरी अकाउंट में अगर तीन महीने तक सैलरी नहीं आती है तो वह ऑटोमैटिकली सेविंग अकाउंट में कन्वर्ट हो जाता है। सेविंग अकाउंट में तब्दील होने से खाते को लेकर बैंक के नियम बदल जाते हैं। फिर बैंक उसे सेविंग अकाउंट के रूप में ट्रीट करते हैं। बैंक के नियम के मुताबिक, सेविंग अकाउंट में एक न्यूनतम राशि मेनटेन करनी जरूरी है। अगर, आप यह मेनटेन नहीं करते हैं तो आपको पेनल्टी देनी पड़ सकती है और आपके खाते में से जमा रकम से बैंक पैसा काट सकते हैं।

क्रैडिट स्कोर

एक से अधिक निष्क्रिय खाते होने से आपके क्रेडिट स्कोर पर भी इसका खराब असर पड़ता है। आपके खाते में न्यूनतम बैलेंस मेनटेन नहीं होने से क्रेडिट स्कोर खराब होता है। इसलिए कभी भी निष्क्रिय खाते को हल्के में नहीं लें और नौकरी छोड़ने के साथ ही उस खाते को बंद करा दें।

नेट बैंकिंग

कई बैंकों में अकाउंट होना सुरक्षा के लिहाज से भी सही नहीं होता है। हर कोई अकाउंट का संचालन नेट बैंकिंग के जरिए करता है। ऐसे में सभी का पासवर्ड याद रखना बहुत ही मुश्किल काम होता है। निष्क्रिय अकाउंट का इस्‍तेमाल नहीं करने से इसके साथ फ्रॉड या धोखाधड़ी होने का चांस बहुत अधिक होता है, क्‍योंकि आप लंबे समय तक इसका पासवर्ड नहीं बदलते हैं। इससे बचने के लिए अकांउट को बंद कराएं और उसके नेट बैंकिंग को डिलीट जरूर कर दें।

इनकम टैक्स

ज्यादा बैंकों में अकाउंट होने से टैक्स जमा करते समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कागजी कार्रवाई में भी अधिक माथापच्ची करनी पड़ती है। साथ ही इनकम टैक्स फाइल करते समय सभी बैंक खातों से जुड़ी जानकारियां रखनी पड़ती है। अक्‍सर उनके स्टेटमेंट का रिकॉर्ड जुटाना काफी पेचीदा काम हो जाता है।

एक्स्ट्रा चार्जेज

कई अकाउंट होने से आपको सालाना मेंटनेंस फीस और सर्विस चार्ज देने होते हैं। क्रेडिट और डेबिट कार्ड के अलावा अन्य बैंकिंग सुविधाओं के लिए भी बैंक आपसे पैसे चार्ज करता है। तो यहां भी आपको काफी पैसों का नुकसान उठाना पड़ता है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: This can be a big loss if you have more than one bank account!

More News From business

Next Stories
image

free stats