image

नई दिल्ली: जेट एयरवेज कर्मचारियों के एक समूह ने भारतीय स्टेट बैंक को पत्र लिखकर कर्मचारियों और बाहरी निवेशकों के संघ को कंपनी के प्रबंधन नियंत्रण के लिए बोली लगाने की अनुमति मांगी है। कर्मचारियों के प्रतिनिधि ने कहा कि उन्होंने बाहरी निवेशकों से 3,000 करोड़ रुपये की निधि जुटाई है। सोसाइटी फॉर वेलफेयर ऑफ इंडियन पायलट्स और जेट एयरक्राफ्ट मेंटिनेंस इंजीनियर्स वेलफेयर एसोसिएशन के संघ ने यह प्रस्ताव भेजा है। संघ ने वादा किया है कि कर्मचारी अपनी भविष्य की कमाई को एयरलाइन में लगाएंगे तथा उत्पादकता बढ़ाएंगे। 

Hyundai का जबरदस्त ऑफ़र, इन कार्स पर मिल रहा है 2.30 लाख रुपए तक का डिस्काउंट

एसबीआई के चेयरमैंन को लिखे संयुक्त पत्र में कहा गया है, "हमारे शुरुआती अनुमानों के मुताबिक, प्राकल्पित पंच वर्षीय कर्मचारी स्टॉक ऑनरशिप कार्यक्रम में कर्मचारी समूहों का योगदान 4,000 करोड़ रुपये से अधिक हो सकता है।" उन्होंने कहा कि विभिन्न कर्मचारी समूहों के साथ व्यापक चर्चा के बाद यह फैसला लिया गया है, साथ ही उन सहयोगियों से भी सलाह-मशविरा किया गया है, जो अतीत में विभिन्न वरिष्ठ प्रबंधन पदों पर रहे हैं।

Xiaomi ने लॉन्च की इलेक्ट्रिक बाइक, यहां जानें कीमत

जेट एयरवेज के कर्जदाता एसबीआई की अगुवाई में फिलहाल एयरलाइन में अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए बोली लगा रहे हैं, ताकि एयरलाइन को दिए गए 8,400 करोड़ रुपये के कर्ज की वसूली की जा सके. एसबीआई की मर्चेट बैंकिंग इकाई एसबीआई कैंप्स अप्रैल के अंत तक दाखिल निवेशकों के प्रस्ताव को शार्टलिस्ट करेगी। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Jet Airways employees write to SBI, demand permission for bidding

More News From business

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats