image

नई दिल्ली: गूगल ने अपने कर्मचारियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दिया है। इस गाइडलाइन में अन्य जानकारियों के अतिरिक्त उन चीजों की लिस्ट भी दी गई है, जो गूगल में उनके कर्मचारी नहीं कर सकते हैं। गूगल के कर्मचारी ऑफिस में राजनीति और ताजा खबरों पर बहस नहीं कर सकते हैं। अपने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में कंपनी ने अपनी ताजा गाइडलाइन जारी की है। गूगल ने अपने ऑफिशियल ब्लॉग पोस्ट में लिखा कि गूगल के कर्मचारी ऑफिस में राजनीति और लेटेस्ट न्यूज़ पर बहस नहीं कर सकते हैं। गाइडलाइंस में लिखा गया कि कर्मचारी वह काम करें, जिसके लिए हमने उन्हें भर्ती किया, हम नहीं चाहते कि वह गैरजरूरी मुद्दों को लेकर बहस करके समय बर्बाद करें।

गूगल का कहना है कि कर्मचारियों के बीच हुई बहस से उनकी टिप्पणी सार्वजनिक होगी, जिससे कंपनी को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है और इसका गलत असर पड़ेगा। गूगल ने कहीं ना कहीं अपने कर्मचारियों को ये बता दिया है कि गूगल कंपनी के लिए काम करना एक जिम्मेदारी की तरह है। ब्लॉग पोस्ट में आगे लिखा गया है, 'गूगल के साथ काम करना का मौका कई चैलेंज के साथ आता है। दुनियाभर में करोड़ों लोग गूगल पर क्वॉलिटी, भरोसेमंद जानकारी के लिए भरोसा करते हैं।

इसके साथ ही गूगल ने अपने कर्मचारियों को ट्रोलिंग के प्रति सचेत रहने को कहा है। गूगल ने लिखा, 'किसी को ट्रोल ना करें, ना नाम लें या ना किसी ऐसे विज्ञापन का हिस्सा बने जो किसी व्यक्ति को निशाना बनाने के लिए किया गया हो।' गूगल ने कंपनी से संबंधित किसी भ्रामक जानकारी को साझा करने पर रोक लगाई है। गूगल ने कहा कि कंपनी के बारे में अच्छी जानकारी ही दें। ऐसी कल्पना ना करें कि आपको पूरी कहानी पता है और गूगल के प्रोडक्ट या बिजनेस के बारे में गलत व भ्रामक ब्यान ना दें। गूगल की गाइडलाइन में ये बदलाव एक पूर्व सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने दावे के बाद किया गया है, जिसने गूगल पर राजनीतिक पक्षपात का आरोप लगाया है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Google released new guideline, now employees will not be able to do this work in office

More News From business

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats