image

न्यूयॉर्क: ब्रिटिश सांसदों ने सोमवार को एक रिपोर्ट जारी करके फेसबुक पर ब्रिटेन में जानबूझकर आंकड़ों से जुड़े निजता संबंधी नियमों और प्रतिस्पर्धा-रोधी कानूनों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया। साथ ही सोशल मीडिया कंपनियों पर अधिक निगरानी रखने का आह्वान किया। सोशल मीडिया पर फर्जी खबरों और भ्रामक जानकारियों पर यह रिपोर्ट 18 महीने की जांच-पड़ताल के बाद तैयार की गई है। रिपोर्ट तैयार करने वाली संसदीय समिति ने कहा कि सोशल मीडिया वेबसाइटों को अनिवार्य रुप से आचार संहिता का पालन करना चाहिए और हानिकारक या अवैध सामग्री को बेहतर तरह से नियंत्रित करने के लिए एक स्वतंत्र नियामक को इनकी निगरानी करनी चाहिए। 

Apple कर रहा फोल्डेबल iPhone लाने की तैयारी, जानें क्या होंगी खासियत

रिपोर्ट में फेसबुक को लेकर खासतौर पर कहा गया कि ऐसा लगता है कि साइट की संरचना को इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि ''विशिष्ट निर्णयों के लिए ज्ञान और जिम्मेदारी को छिपाया जा सके। यह स्पष्ट है कि फेसबुक ने जानबूझकर आंकड़ों की निजतर डेटा प्राइवेसी और प्रतिस्पर्धा-रोधी संबंधी कानूनों का उल्लंघन किया है।'' संसद की मीडिया समिति ने रिपोर्ट में फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग पर ब्रिटेन की संसद की अवमानना का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जुकरबर्ग को कई बार समिति के सामने पेश होने के लिए कहा था कि लेकिन वह नहीं आए। 

Samsung का खुलासा इस दिन लॉन्च होगा Galaxy M30, सुपर AMOLED पैनल और बहुत कुछ है खास

फेसबुक ने इस संबंध में भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं दिया है। उल्लेखनीय है कि फेसबुक और अन्य इंटरनेट कंपनियों को इस बात के लिये जांच का सामना करना पड़ रहा है कि वे उपयोगकर्ताओं के आंकड़ों को किस तरह संभालती हैं। साथ ही उनकी इसके लिये भी उनकी आलोचना हो रही है कि वे चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश के लिए अपने प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोकने में नाकाम हैं।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: British MPs reprimand FACEBOOK, these allegations imposed on Mark Zuckerberg

More News From business

free stats