image

चंडीगढ़:  पंजाब विधानसभा के मानसून सत्र में आज मुख्य विपक्षी आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल ने कार्य स्थगन प्रस्ताव रद्द किए जाने पर कड़ा ऐतराज जताते हुए सरकार के खिलाफ सदन में नारेबाजी की और वाकआऊट किया। इस दौरान शोर-शराबे के कारण सदन में हंगामे का माहौल रहा। शिअद ने बेअदबी मामले की सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में जांच और आप ने महंगी बिजली और बेअदबी मामले पर बहस के लिए काम रोको प्रस्ताव पेश किया था। शिरोमणि अकाली दल ने सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में बेअदबी मामले की जांच के लिए काम रोको प्रस्ताव सदन में रखा था लेकिन स्पीकर राणा के.पी. सिंह ने नियमों का हवाला देते हुए रद्द कर दिया।

इससे परमिंदर सिंह ढींडसा की अगुवाई में शिअद व भाजपा सदस्य नारेबाजी करते हुए वेल में आ गए और स्पीकर के फैसले की निंदा की। काफी देर नारेबाजी के बाद गठबंधन के नेता सदन से वाकआऊट कर गए। शून्यकाल शुरू होते ही ढींडसा ने काम रोको प्रस्ताव को रद्द किए जाने का विरोध किया। स्पीकर ने दावा किया कि 2 घंटे पहले नोटिस दिया जाना चाहिए। ढींडसा ने कहा कि सुबह 8 बजे से पहले काम रोको प्रस्ताव की सूचना दी गई और उसके बाद नोटिस स्पीकर के घर पर रिसीव कराया गया। स्पीकर राणा के.पी. सिंह ने कहा कि नोटिस 2 घंटे से कम समय में मिला, लिहाजा इसे मंजूर नहीं किया जा सकता। पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि काम रोको प्रस्ताव खारिज कर स्पीकर ने लोकतांत्रिक मानदंड और संसदीय प्रक्रिया को तहस-नहस किया है। उन्होंने कहा कि सरकार इस बारे में बहस से भाग रही है।

उधर, राज्य में महंगी बिजली और बेअदबी के मुद्दे पर मुख्य विपक्षी आम आदमी पार्टी की ओर से लाया गया काम रोको प्रस्ताव भी स्पीकर ने खारिज कर दिया। इससे नाराज नेता प्रतिपक्ष हरपाल चीमा की अगुवाई में सदस्यों ने वेल में आकर स्पीकर के खिलाफ नारेबाजी की और बाद में सदन से वाकआऊट कर गए। बाहर चीमा और अमन अरोड़ा ने कहा कि 4 सालों में 2 कमीशन और 2 एजैंसियों की जांच का कोई नतीजा नहीं निकला है। उन्होंने इस मामले में व्हाइट पेपर जारी करने की मांग रखी थी। उन्होंने कहा कि हद से ज्यादा महंगी बिजली और निजी थर्मल प्लांटों से गैर जरूरी समझौते रद्द किए जाने की मांग है। उन्होंने सरकार और स्पीकर पर विपक्ष विरोधी रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार विपक्ष को समय पर बिल भी नहीं मुहैया करवा पा रही है जबकि नियमानुसार 15 दिन पहले बिल मिलने चाहिएं। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Ruckus over rejecting the proposal of Opposition and SAD

More News From punjab

Next Stories
image

free stats