image

चंडीगढ़ : पंजाब में धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी की घटना के बाद अपने घटते जनाधार में फिर से जान फूंकने की कोशिश कर रहे शिरोमणि अकाली दल को राज्य के 10 लोकसभा सीटों में से सिर्फ दो पर ही जीत नसीब हुई है.सीट बंटवारा के तहत शिरोमणि अकाली दल ने राज्य की 13 लोकसभा सीटों में से 10 पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, जबकि तीन सीटें उसने सहयोगी भाजपा को दी थी। पार्टी से जीत दर्ज करने वालों में सिर्फ शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल और उनकी पत्नी एवं केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ही रहे।सुखबीर बादल ने फिरोजपुर से जीत दर्ज की वहीं उनकी पत्नी एवं दो बार से बठिंडा से सांसद रहीं हरसिमरत अपनी सीट बरकरार रखने में कामयाब रहीं। ये दोनों सीटें शिअद का गढ़ मानी जाती हैं.
 सुखबीर ने पत्रकारों से कहा,‘‘मैं पंजाब की जनता का शुव्रिया अदा करना चाहता हूं।शिअद अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी के ये दो सीटें जीतने से कांग्रेस का ‘‘मिशन 13’’ पूरी तरह से नाकाम हो गया।उन्होंने कहा कि यह दिखाता है कि ‘‘जो लोग बादल परिवार के खिलाफ बयान देते थे वे वास्तव में झूठा दुष्प्रचार फैलाते थे।  चुनाव आयोग के अनुसार सुखबीर ने शिअद के बागी एवं कांग्रेस उम्मीदवार शेर सिंह घुबाया को 1.98 लाख से अधिक मतों के भारी भरकम अंतर से हराया।
 2015 में धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी और पुलिस गोलीबारी की घटनाओं के कारण उनकी पार्टी आलोचना के घेरे में थी। पुलिस गोलीबारी की घटना में दो व्यक्ति मारे गये थे।राज्य में दशकों से शिअद का प्रभाव रहा, हालांकि 2017 के विधानसभा

चुनाव में 117 सीटों में से पार्टी सिर्फ 15 पर जीत दर्ज कर पायी।
 बठिंडा सीट भी शिअद के लिये काफी अहम रहा क्योंकि इस सीट से हरसिमरत कौर तीसरी बार फिर से सांसद बनने के लिये चुनाव लड़ रही थीं।चुनाव आयोग के आंकड़े के अनुसार हरसिमरत ने इस सीट से अमरिंदर सिंह राजा वररिंग को 21,772 मतों के अंतर से हराया।पांच बार मुख्यमंत्री रहे और अकाली के वरिष्ठ नेता प्रकाश सिंह बादल ने भी अपनी पुत्रवधु के लिये चुनाव प्रचार किया था।

इस जीत के लिये हरसिमरत ने मतदाताओं का शुव्रिया अदा किया।
 शिअद के संरक्षक प्रकाश सिंह बादल और पार्टी प्रमुख सुखबीर बादल ने लोकसभा चुनावों में राजग की ‘‘अभूतपूर्व और ऐतिहासिक जीत’’ के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को बधाई दी। प्रकाश सिंह बादल ने परिणाम को ‘‘निर्णायक, मजबूत और सजग नेतृत्व के लिए शानदार जीत’’ करार दिया और कहा, ‘‘अब मजबूत और एकीकृत भारत के लिए काम करने की जरुरत है जिसमें हर भारतीय की बराबर भागीदारी हो। सुखबीर बादल ने प्रधानमंत्री को बधाई देते हुए कहा कि पूरे देश ने धर्म, जाति, समुदाय से ऊपर उठकर धर्मनिरपेक्ष और एकजुट जनादेश दिया। से दिया इस्तीफा

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Only Sukhbir and Harsimrat live from Shaid in Punjab

More News From punjab

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats