image

नई दिल्ली : पंजाब ने गृह मंत्रलय को आश्वस्त किया है कि करतारपुर गलियारे के लिए बनने वाले राजमार्ग और एकीकृत चौकियों के लिए मार्च के मध्य तक जमीन उपलब्ध करा दी जायेगी। करतारपुर गलियारा परियोजना के तेजी से क्रियान्वयन के बारे में आज यहां गृह मंत्रलय में एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। करतारपुर गलियारा परियोजना के तहत अंतर्राष्ट्रीय सीमा से तीन-चार किलोमीटर की दूरी पर पाकिस्तान में स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारा तक सड़क संपर्क मार्ग बनाया जाना है।बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा ने की और इसमें पंजाब के मुख्य सचिव करण अवतार सिंह , सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक आर के मिश्र , इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया और अन्य एजेन्सियों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्य रुप से राजमार्ग और एकीकृत चौकी के लिए भूमि अधिगृहण के बारे में चर्चा हुई। यह बताया गया कि भूमि अधिगृहण के लिए प्रारंभिक अधिसूचना जारी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि भूमि अधिगृहण का कार्य प्रगति पर है। इसके चार चरण हैं और अभी दूसरे चरण का काम चल रहा है। उम्मीद है कि एक-डेढ महीने में यह पूरा हो जायेगा। 

 पंजाब सरकार ने आश्वासन दिया है कि एकीकृत चौकी के लिए भूमि अधिगृहण से संबंधित अधिसूचना बुधवार को जारी की जायेगी और दोनों परियोजनाओं के लिए मार्च के मध्य तक भूमि उपलब्ध करा दी जायेगी। सूत्रों ने बताया कि इन परियोजनाओं के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को जमीन दी जायेगी। एकीकृत चौकी के निर्माण संबंधी योजना को अगले कुछ दिनों में अंतिम रुप दिया जायेगा। बैठक में यह भी बताया गया कि पाकिस्तान को जीरो बिन्दू से संबंधित जानकारी दे दी गयी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में गत 22 नवम्बर को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान सीमा तक गलियारे के निर्माण के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी थी। उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने गत 26 नवम्बर को इस गलियारे के भारत की ओर निर्माण के लिए आधारशिला रखी थी। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Land will be available for Kartarpur corridor next month

More News From punjab

Next Stories
image

free stats