image

चंडीगढ़: लोकसभा चुनाव में संगरूर से शिरोमणि अकाली दल द्वारा पूर्व वित्त मंत्री परमिंदर सिंह ढींडसा को मैदान में उतारे जाने की संभावना को देखते हुए इस सीट पर अब कांग्रेस को कड़े मुकाबले का सामना करना पड़ेगा। मौजूदा आप सांसद भगवंत मान एक बार फिर संगरूर से मैदान में हैं। हालांकि कांग्रेस की ओर से अभी उम्मीदवारों का ऐलान नहीं किया गया है लेकिन यहां से पूर्व मुख्यमंत्री राजिंदर कौर भट्ठल, केवल ढिल्लों और कैबिनेट मंत्री विजय इंदर सिंगला बडे दावेदार हैं। 

Read More  बालाकोट जैसे हमले की तैयारी में था PAK , 20 विमान भेजे फिर भी नाकाम रहा

सिंगला यहां से 2009 का लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। संगरूर लोकसभा हलका हिंदू बाहुल्य है और कांग्रेस यहां से किसी मजबूत हिंदू चेहरे को मैदान में उतारना चाहती है। फिलहाल उनके सामने सिंगला विकल्प के रूप में हैं लेकिन कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति का पता नहीं कि वह किसको यहां से मैदान में उतार दे। हलके में आप से भगवंत मान और शिअद-भाजपा के परमिंदर ढींडसा के मैदान में उतरने से अब कांग्रेस को मौका मिल गया है कि वह सियासी रूप से सही फैसला लेकर ऐसा चेहरा मैदान में उतारे जो इन दोनों पर भारी हो। इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री व चंडीगढ़ से दावेदार पवन बांसल का नाम भी चला था लेकिन कांग्रेस

Read More  BJP में शामिल हुए इस भोजपुरी स्टार को नहीं मिली कुर्सी, फैंस ने जताई नाराजगी

सूत्रों के अनुसार बंसल के नाम पर चंडीगढ़ से ही विचार किया जा रहा है। फिलहाल मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की पसंद केवल ढिल्लों बताए जाते हैं। शिअद में खानाजंगी के बाद सुखदेव सिंह ढींडसा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था और हाल ही में उन्होंने अपने बेटे परमिंदर सिंह ढींडसा को सलाह दी थी कि वह चुनाव से दूर रहें। उधर, शिअद प्रधान सुखबीर बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया लगातार छोटे ढींडसा पर दबाव बनाए हुए थे कि इस संकट की घड़ी में वह पार्टी का साथ दें, इसके बाद ढींडसा ने अपनी सहमति दे दी। परमिंदर सिंह ढींडसा ने कहा कि आज मैं जो कुछ भी हूं, पार्टी की वजह से हूं और अगर पार्टी हुक्म करती है तो वह मानना पड़ेगा।

Read More  केजरीवाल का दावा, पूर्ण राज्य बनने पर दिल्ली के छात्रों को देंगे 85 फीसदी आरक्षण

चुनाव लड़ने का फैसला करने से पहले क्या उन्होंने बड़े ढींडसा के साथ सलाह की? के जवाब में ढींडसा ने कहा कि हां बात हुई और मैंने उन्हें बताया कि पार्टी चाहती है तो लड़ना पड़ेगा। क्या बड़े ढींडसा उनके लिए प्रचार करेंगे, पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि मैं उनसे विनती करूंगा। राज्य में सत्ताधारी कांग्रेस सभी 13 सीटों पर जीत का भले ही दावा कर रही है लेकिन संगरूर, फरीदकोट, फतेहगढ़ साहिब और बठिंडा के लिए उम्मीदवारों का नाम फाइनल करने में उसे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: congress seeks hindu face for loksabha election 2019

More News From punjab

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats