image

चंडीगढ़ : पंजाब आम आदमी पार्टी (आप) दलित छात्रों के पोस्ट मैट्रिक वजीफा मुद्दा संसद के दोनों सदनों में उठाएगी और पंजाब विधानसभा में कांग्रेस के साथ-साथ अकाली-भाजपा के विधायकों को घेरेगी। प्रतिपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने अनुसूचित जाति के दलित छात्रों के लिए पोस्ट मैट्रिक वजीफा स्कीम के लिए मोदी सरकार की तरफ से बदले गए फामरूले को लेकर पैदा हुए विवाद पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए आज यहां कहा कि इस तरह की मनमानियों ने साबित कर दिया है कि दलित वर्ग भाजपा-अकाली दल और कांग्रेस के एजंडे पर ही नहीं हैं। 

श्री चीमा ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार का दलित विद्यार्थियों से सम्बन्धित वजीफा स्कीमों से पल्ला झाड़ना दलित विरोधी मनुवादी सोच को दर्शाया है । पार्टी इसकी निंदा करती है। स्पष्ट है कि अकाली दल की सहयोगी केंद्र की मोदी सरकार अपनी, वित्तीय जिम्मेवारियां राज्य सरकारों पर थोप कर दलित विद्यार्थियों का भविष्य तबाह कर रही है।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री यदि दलित छात्रों के प्रति गंभीर होते तो पोस्ट मैट्रिक और अंडर मैट्रिक स्कालरशिप स्कीमों के लाभार्थी छात्रों का पिछले तीन सालों का 1000 करोड़ रुपए से अधिक का बकाया अब तक न खड़ा होता। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Congress and Akali-BJP will take you in Vidhan Sabha on the issue of stipend

More News From punjab

Next Stories
image

free stats