image

चंडीगढ़: पंजाब विधानसभा से पिछले साल इस्तीफा देने वाले आप विधायक वरिष्ठ वकील एच एस फुल्का ने रविवार को स्पीकर को पत्र लिखकर कहा कि अगर उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं हुआ तो वह उच्चतम न्यायालय का रुख करेंगे। दाखा विधानसभा क्षेत्र से विधायक ने विधानसभा अध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा, ‘‘अगर आप मेरे इस्तीफे पर कोई फैसला नहीं लेते तो मुझे उच्चतम न्यायालय का रुख करने के लिए विवश होना पड़ेगा।’’ फुल्का ने अक्टूबर में विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था और बाद में विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात कर उनका इस्तीफा स्वीकार करने का अनुरोध किया था। फुल्का ने पहले भी अध्यक्ष राणा के पी सिंह को पत्र लिखकर कहा था कि वह इस्तीफे पर पुर्निवचार नहीं करेंगे। उन्होंने पहले कहा था कि अध्यक्ष ने उन्हें आश्वस्त किया था कि वह इस्तीफे पर सोच-समझकर फैसला लेंगे।

पहले ऐसा बताया गया कि विधायक ने उचित प्रारूप में इस्तीफा नहीं दिया था। फुल्का ने साल 2015 में राज्य में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी में शामिल लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने की मांग को लेकर इस्तीफा दे दिया था। विधानसभा अध्यक्ष को रविवार को लिखे ताजा पत्र में फुल्का ने लिखा, ‘‘मैंने मूल रूप से अक्टूबर 2018 में इस्तीफा सौंपा था। इसके बाद में निजी तौर पर आपसे मिला और विधानसभा से एक पंक्ति का इस्तीफा भी सौंपा था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसके बाद मैंने आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दे दिया। आपने मुझे 23 मार्च 2019 को मिलने के लिए बुलाया। मैंने आपको स्पष्ट कर दिया कि मैंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है और मेरा इस्तीफा स्वीकार किया जा सकता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसके बाद भी मैंने आपको बताया कि अगर आपको लगता है कि मेरा इस्तीफा उचित प्रारूप में नहीं है तो मुझे बताएं कि इसे किस प्रारूप में दिया जाना चाहिए, मैं उस पर हस्ताक्षर कर दूंगा।’’  फुल्का ने लिखा, ‘‘इन सबके बावजूद आज तक मेरा इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया। मैं आपसे तत्काल मेरा इस्तीफा स्वीकार करने का अनुरोध करता हूं ताकि दाखा निर्वाचन सीट पर फगवाड़ा और जलालाबाद के साथ उपचुनाव कराए जा सकें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘फगवाड़ा और जलालाबाद के विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए गए क्योंकि वे संसद में निर्वाचित हो गए। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण रूप से आपने मेरा इस्तीफा अभी तक स्वीकार नहीं किया। अत: कृपया मेरा इस्तीफा फौरन मंजूर करें ताकि उपचुनाव साथ में कराए जा सके।’’

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: AAP MLA Phoolka wrote a letter to the speaker and said If not accepted resignation then go to Supreme Court

More News From punjab

Next Stories
image

free stats