image

पटियाला: साइबर डकैती द्वारा होने वाली आम लोगों की बड़ी लूट का पदार्फाश करते हुए फीनो पेमैट्स बैंक लिमिटेड की मंडी गोबिंदगढ़ शाखा के मैनेजर अशीश कुमार को पटियाला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फीनो पेमैंटस बैंक लिमिटेड के करीब 215 बैंक खातों को फ्रीज कर दिए गए हैं। बीते एक महीने में करीब 200 से अधिक जाली बैंक खातों में करीब 5 करोड़ 33 लाख 896 रुपए जमा करवाए गए और 5 करोड़ 25 लाख 67 हजार, 999 रुपए निकलवाए गए हैं। इन बैंक खातों में जमा राशि करीब 7 लाख 73 हजार को फ्रीज कर दिया गया है।

प्रैसवार्ता के दौरान एस.एस.पी. मंदीप सिंह सिद्धू ने बताया कि बीते दिनों पुलिस ने सांसद परनीत कौर के अकाऊंट से 23 लाख रुपए साइबर लूट के जरिए निकालने वाले गिरोह का पदार्फाश किया था। इसी मामले की जांच को आगे बढ़ाते हुए पुलिस ने उक्त जानकारी हासिल की है। एस.एस.पी. के अनुसार झारखंड और पंजाब के रहने वाले अफसर अली और नूर अली वासी मंडी गोबिंदगढ़ और अताउल अंसारी वासी जामतारा उत्तराखंड को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। एस.एस.पी. मंदीप सिंह सिद्धू ने बताया कि इस पूरे मामले की जांच एस.पी. इंवैस्टीगेशन हरमीत सिंह हुंदल, डी.एस.पी. योगेश शर्मा, सिविल लाइन पुलिस थाना प्रभारी राहुल कौशल, साइबर सैल से एस.आई. तरनदीप कौर और सी.आई.ए. प्रभारी शमिंदर सिंह द्वारा की गई। दिलचस्प है

कि साइबर क्राइम को अंजाम देने वाला आरोपी अफसर अली महज 10वीं पास है और पहले आधार कार्ड बनाने का काम करता था। इस आरोपी ने फीनो पेमैंटस बैंक लिमिटेड के डिस्टीब्यूटर के तौर पर काम किया था। बैंक ने इस आरोपी को स्पैशल मनचैट का पहचानपत्र भी जारी कर रखा था। इसी के आधार पर आरोपी बैंक में नए खाते खोलने का काम करता था। इसी आइर्.डी. कार्ड के आधार पर आरोपी ने फीनो बैंक में करीब 200 से अधिक फर्जी खाते खुलवाए। आम लोगों से साइबर ठगी के जरिए जो पैसे विभिन्न बैंक खातों से निकाले जाते थे, उन्हें आरोपी फीनो बैंक के फर्जी खातों में डालने के बाद उन्हें निकवा लेते थे। जांच में ये भी साफ हो चुका है कि जिन फर्जी 200 के करीब खातों को आरोपी ने फीनो बैंक में खोला था, वह भोले-भाले लोगों की आई.डी. के आधार पर खोला गया था और संबंधित आई.डी. वाले लोगों को इस बैंक खाते के बारे में कोई जानकारी तक नहीं थी।

जो कोई व्यक्ति अपने गुम हुए आधार कार्ड की नकल निकलवाने के लिए आता था, वह उन्हीं आधार काडरें को फर्जी बैंक खाते खुलवाने में प्रयोग कर लेता था। उधर, फीनो बैंक के मैनेजर अशीश कुमार ने पुलिस को पूछताछ में बताया है कि वह लुधियाना का रहने वाला है और नवंबर, 2018 में उसने इस बैंक के मैनेजर के तौर पर ज्वाइन किया था। उसकी पहचान आरोपी अफसर अली के साथ हुई थी, जिसके बाद उसने आम लोगों के नाम पर फर्जी बैंक खाते खोलना शुरू कर दिया। बीते समय दौरान फर्जी बैंक खातों के जरिए पैसों के आदान-प्रदान संबंधी विस्तार से जानकारी इकट्ठा की जाएगी।

गिरोह के साथ कई लोग हैं शामिल
जांच में पुलिस साफ कर चुकी है कि जामतारा (झारखंड) और अन्य राज्यों में बैठकर उक्त गिरोह आम लोगों के बैंक खातों से पैसे निकालकर अपने फर्जी बैंक खातों में डालने का काम करता आ रहा था। जब कभी इस प्रकार के मामलों की जांच की गई तो उसमें पाया गया कि जिस बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर हुए, वह बैंक खाता किसी अन्य राज्य के व्यक्ति के नाम पर था। जब पुलिस संबंधित व्यक्ति तक पहुंचती तो पता चलता कि संबंधित खाता धारक को फीनो बैंक खाते के बारे में कोई जानकारी ही नहीं है। इस प्रकार के अधिकतर मामलों की जांच अधर में ही लटकती आ रही थी, जिसे अब पूरा करने का काम किया जा रहा है।

पटियाला पुलिस ने लुधियाना में दबिश देकर बैंक मैनेजर उठाया
लुधियाना : पटियाला पुलिस ने लुधियाना में दबिश देकर थाना पी.ए.यू. के इलाके चांद कालोनी से व्यक्ति को उठाया है, जोकि मंडी गोबिंदगढ़ स्थित पेमैट्स बैंक लिमिटेड का मैनेजर है। पटियाला के सी.आई.ए. ब्रांच ने सोमवार को पी.ए.यू. के इलाके चांद कालोनी में रेड की और उक्त आरोपी बैंक मैनेजर अशीश कुमार को पकड़ लिया। सबसे हैरानी वाली बात यह है कि पटियाला पुलिस ने लुधियाना पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगने दी।

बाहरी राज्यों के रहने वाले लोगों के नाम पर खोले बैंक खाते
एस.एस.पी. मंदीप सिंह सिद्धू के अनुसार आरोपियों ने फीनो बैंक में 200 से अधिक फर्जी खाते खोले थे। इनमें 59 खाते उत्तर प्रदेश, 55 बिहार, पंजाब के 85, वैस्ट बंगाल के 2, हरियाणा व एम.पी. से एक-एक पते का खाता खोला गया। ये सभी बैंक खाते 2019 में ही खोले गए।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 200 accounts opened in Phino Bank due to fake documents, bank manager arrested

More News From crime

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats