image

श्री आनंदपुर साहिब : पंजाब में आनंदपुर साहिब की पवित्र धरती पर बना दुनिया का विलक्षण अजायब घर ‘विरासत-ए-खालसा’ एशिया में सबसे अधिक देखे जाने वाला पवित्र स्थल है जिसका नाम ‘एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्ज़’ में दर्ज हो गया है। यह खुलासा पंजाब के पर्यटन एवं सांस्कृतिक मामले मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने किया। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्ज द्वारा इसकी पुष्टि कर दी गई है कि समूचे एशिया में विरासत-ए-खालसा अब तक का अकेला अजायब घर है जहां एक दिन में सबसे अधिक सैलानियों की आमद दर्ज की गई है। विरासत-ए-खालसा में 20 मार्च, 2019 को 20,569 सैलानियों ने दर्शन किए थे।

Read More  स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी हमले की आशंका, हाई अलर्ट पर पुलिस

चन्नी ने बताया कि वास्तव में इस साल यह विरासत-ए-खालसा द्वारा बनाया गया तीसरा रिकॉर्ड है जो कि ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉड्ज -फरवरी 2019 एडिशन’ और ‘इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्ज-2020 एडिशन’ के बाद दर्ज किया गया है। मंत्री ने कहा कि पंजाब और सिखी के गौरवमयी तथा अतुल्य इतिहास और संस्कृति की यादगार के तौर पर बनाए गए ‘विरासत-ए-खालसा’ के दर्शनों के लिए आने वालों की संख्या पिछले 7.5 सालों में 1 करोड़ को पार कर चुकी है जोकि पंजाब के लिए गौरव की बात है। उन्होंने जोर देकर कहा कि विरासत-ए- खालसा सैलानियों की आमद, प्रतिष्ठा, विश्व स्तरीय तकनीक, लोकप्रियता, अव्वल दर्जे के बुनियादी ढांचे, सभ्यक प्रबंधन और बेहतर रख-रखाव के कारण लाखों-करोड़ों लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

Read More  बकरीद और बाकी त्यौहारों पर CM योगी का सख्त निर्देश

उन्होंने कहा कि न केवल देश में से बल्कि विदेशों के प्रधानमंत्रियों और राष्ट्रपतियों का विरासत-एखालसा के दर्शन के लिए आना एक गर्व की बात है जिस कारण अजायब घर पूरे महाद्वीप में प्रसिद्ध होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि उक्त विशेषताओं के चलते विरासत-ए-खालसा आर्कीटैक्टों और विद्यार्थियों के लिए केसस्टडी का विषय बन गया है। एक संकल्प करते हुए मंत्री ने कहा कि मंत्रालय (सांस्कृतिक मामले) विरासत-एखालसा को ‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्ज’ में शामिल करने के लिए यत्नशील है और अब इस महान अजायब घर को एक संस्थान का रूप देने का समय आ गया है।

Read More  राहुल का 20 महीने का सफर, नहीं मिला सत्ता का शिखर

पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव विकास प्रताप ने बताया कि विरासत-ए-खालसा ने कई अन्य पक्षों में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की हैं। पंजाब ऊर्जा विकास एजैंसी (पेडा) द्वारा आयोजित करवाए गए ‘स्टेट लैवल एनर्जी कंजर्वेशन अवार्ड’ मुकाबलों में बिजली के सभ्य प्रयोग पर बेहतर प्रबंधन के लिए विरासतए-खालसा ने दूसरा ईनाम प्राप्त किया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Virasat e Khalsa recorded in asia book of records

More News From punjab

Next Stories
image

free stats