image

लुधियाना: लुधियाना के सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने भी पुलवामा हमले पर स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बयान पर असहमति जताई है। बिट्टू ने कहा कि सिद्धू जिस तरह बाकी मामलों में बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, उसी तरह उन्हें पुलवामा हमले के मामले में भी डटकर पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा बयान देना चाहिए। बेशक पाक प्रधानमंत्री इमरान खान उनके दोस्त है, लेकिन उन्हें इमरान खान से बात करके उन्हें यह बता देना चाहिए कि उनके लिए इमरान खान या जनरल बाजवा नहीं बल्कि देश बड़ा है।

 वह उनके दुश्मन हैं और अगर उन्होंने भारत की तरफ बुरी निगाह से देखा तो उन्हें उसका जवाब दिया जाएगा। बिट्टू ने कहा कि शनिवार को सिद्धू लुधियाना में प्रोग्राम के दौरान उनसे मिले थे, तब भी उन्होंने सिद्धू को सलाह दी थी कि इमरान खान उनके दोस्त हैं, उनसे पर्सनली बात करके कह दें कि भारत के खिलाफ कोई भी साजिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

बिट्टू ने पंजाबी एकता पार्टी के प्रधान सुखपाल सिंह खैहरा को भी नसीहत दी कि वह मीडिया के सामने आकर सैनिकों के खिलाफ दिए बयान को वापस लें। उन्होंने कहा कि जिस सेना की वजह से हम अपने घरों में चैन से सो पाते हैं, उस सेना पर सवाल उठाने या किंतु-परंतु करने का खैहरा को कोई हक नहीं है। 

अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस लेने का बिट्ट ने किया स्वागत
बिट्टू ने कश्मीर में अलगाववादी नेताओं से सुरक्षा वापस लेने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह लोग देश का खाते हैं, लेकिन बात पाकिस्तान की करते हैं। हमारे सैनिक उनकी सिक्योरिटी में तैनात रहते हैं और वह पाकिस्तान से मिलकर सैनिकों के खिलाफ ही साजिशें रचते हैं। इन लोगों को या तो पाकिस्तान की तरफ धक्का दे देना चाहिए या फिर तिहाड़ जेल की कोठरियों में बंद कर देना चाहिए। 

खालिस्तान समर्थकों की सुरक्षा हटाने की भी मांग की
बिट्टू ने कहा कि पंजाब में भी खालिस्तान का समर्थन करने वाले नेताओं की सुरक्षा वापस ली जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हवारा और राजोआणा से जेल में मुलाकातें कर उनकी चिट्ठियां लाने वाले किसी भी तरह की सुरक्षा या सरकारी सुविधा के लायक नहीं हैं। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Congress MP Bittu expressed dissatisfaction over Sidhu's statement, saying that ...

More News From punjab

free stats