जालंधरः बुधवार की सुबह जब सारे बच्चे स्कूल जाने के लिए तैयार हो रहे थे, वहीं एक छात्रा ने अपनी जीवन लीला ही खत्म कर ली। उसका कारण था स्कूल में एक टीचर द्वारा उसे प्रताड़ित किया जाना। दरअसल, दामोरिया पुल के पास एक सरकारी स्कूल की छात्रा ने सुसाइड कर लिया। मरने से पहले छात्रा ने एक सुसाइड नोट लिखा, इस सुसाइड नोट में उसने अपने एक अध्यापक का जिक्र किया, जो उसे अक्सर क्लास में परेशान करता था। 

Read More  गिरफ्तार हुई महात्मा गांधी के पुतले की कातिल, अब कोर्ट में होगी पेश

क्या लिखा है सुसाइड नोट में 

आई लव यू मामा पापा" 'सॉरी आई क्विट" 'आई हेट नरेश कपूर सर" मेरी मौत के जिम्मेदार नरेश सर है प्लीज ममा पापा इसे छोड़ना मत मेरी मौत का बदला इससे जरूर लेना तभी मेरी आत्मा को शांति मिलेगी।  और हां मामा पापा का ध्यान रखना यह शब्द फंदा लेने से पहले नौवीं की छात्रा तनवी मेहता ने सुसाइड में लिखे।

किशनपुरा से सटे मोहल्ला जगतपुरा में नौवीं की छात्रा ने टीचर की प्रताड़ना से आहत होकर बुधवार तड़क सार फंदा लेकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। थाना रामामंडी की पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया तो वही सुसाइड नोट के आधार पर स्कूल टीचर नरेश कपूर के खिलाफ सुसाइड के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है।

Read More चेतावनीः भारत सहित 8 देशों पर मंडरा रहा है ये बड़ा खतरा, पढ़ें पूरी खबर

टीचर की डांट से थी परेशान 

जगतपुरा निवासी 16 वर्षीय तनवी मेहता ने सुसाइड नोट में आरोप लगाया है कि उसके स्कूल का एक टीचर नरेश कपूर उसे बात-बात पर डांटता है। उसने क्लास में इस कदर आतंक मचा रखा है कि सभी बच्चे उससे भयभीत रहते हैं। इतना ही नहीं वह अक्सर उसे ही टारगेट करता है। बात-बात पर प्रताड़ित करता है। मम्मा आप हमेशा मुझसे पूछा करती थी ना कि मेरा मन पढ़ाई में क्यों नहीं लगता उसका एक बहुत बड़ा कारण है। इसी टीचर के कारण सोच-सोच कर मैं दिमागी तौर पर परेशान हो गई हूं उसकी प्रताड़ना से आहत हूं अब मेरे सामने एक ही रास्ता बचता है कि मैं सुसाइड कर लूं प्लीज ममा पापा मुझे माफ कर देना आई लव यू मामा पापा आप लोग मेरी मौत का बदला जरूर लेना इस गंदे टीचर को किसी कीमत पर मत छोड़ना इसी के कारण में सुसाइड करने के लिए मजबूर हुई हूं। इस को सजा जरूर दिलाएं।  मम्मा आप मेरी सहेलियों से पूछ लेना कि नरेश सर किसी और का गुस्सा मुझ पर निकालते थे और हर बार मुझे ही टारगेट करते थे।  इतना ही नहीं वह मुझे तरह-तरह की बातें भी सुनाया करते थे जिसके कारण मैं खुद को इस कदर इज्जत महसूस करने लगी थी कि उसकी बातों को सोच सोच कर दिमागी तौर पर परेशान हो चुकी थी अब मेरे सामने सुसाइड करने के अलावा कोई और चारा ही नहीं बचा था।

Read More छत्तीसगढ़: 11 जिलों के कलेक्टरों समेत 42 अधिकारियों के हुए तबादले

मम्मा अब मैं पापा को तंग नहीं करूंगी ना नया मोबाइल मांगूंगी और ना ही एक्टिवा पर एक बात तो है नई एक्टिवा और नया मोबाइल इस्तेमाल करने की इच्छा मेरे मन में ही रह गई चलो कोई बात नहीं अगले जन्म में आपके घर बेटा बनकर आऊंगा अपनी सब ख्वाहिशें पूरी करूंगी अलविदा मम्मा पापा

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Ninth class student commit suicide in Jalandhar

More News From punjab

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats