image

जालंधर: शनिवार को मोगा से गनप्वाइंट पर इनोवा कार लूटने वाले हाईवे रॉबरी गैंग ‘निक्का गैंग’ के सरगना जगतार सिंह निक्का को साथी जसकरण सिंह के साथ रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि उसके दो साथी ज्योति व कर्मा भागने में सफल हो गए। इससे पहले गैंग मोगा से कार लूटने के बाद कावां वाला पत्तन शाहकोट पुलिस नाका तोड़ कर भागे थे, वहीं नकोदर व शाहकोट पुलिस ने संयुक्त रूप से नाकाबंदी कर गांव नूरपुर चट्ठा से दो गैंगस्टरों को गिरफ्तार कर लिया जबकि दो फरार हो गए। प्राथमिक पूछताछ में पता चला है कि गिरोह के  सरगना निक्का पर हाईवे रॉबरी, लूटपाट, चोरी डकैती के दो दर्जन के करीब मामले दर्ज हैं, जबकि फरार आरोपी कर्मा पर 20 मामले दर्ज है। गैंग इतना बेखौफ था कि नाके पर खड़े मुलाजिमों पर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की, मगर ऐन मौके पर बैरीकेड आगे कर गाड़ी का रुख मोड़ा और गाड़ी पर पुलिस कर्मियों ने 2 फायर कर टायर पंक्चर कर दिया। 

प्रैस कांफ्रैंस में एसएसपी नवजोत सिंह माहल, एसपी राजबीर सिंह, एसपी रविंदर पाल सिंह संधू, डीएसपी वत्सला गुप्ता ने बताया कि थाना प्रभारी पवित्र सिंह और नकोदर थाना प्रभारी मोहम्मद जमील के पास सूचना आई थी कि 20 अप्रैल को मोगा से इनोवा पीबी-32-एच-4032 गनप्वाइंट पर लूटी गई थी। 

इसी नंबर की इनोवा कार रविवार सुबह 8:25 पर कावां वाला पत्तन शाहकोट पुलिस का नाका तोड़कर जालंधर की तरफ आ रही है। ऐसे में सूचना मिलते ही शाहकोट और नकोदर पुलिस ने संयुक्त रूप से नाकाबंदी कर शाहकोट की तरफ से आने वाली गाड़ियों की चैकिंग शुरू कर दी। इसी दौरान एक तेज रफ्तार इनोवा उनकी तरफ आती दिखाई दी, जिसके चालक ने गाड़ी रोकने की बजाए बैरीकेड को टक्कर मारकर गाड़ी थाना प्रभारी की और मोड़ दी। थाना प्रभारी ने गाड़ी के आगे बैरीकेड फैंक कर उसे रोकने की कोशिश की। इनोवा चालक ने तेज रफ्तार से गाड़ी को पीछे मोड़ दिया। ऐसे में एएसआई हरभजन लाल ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से दो फायर किए जो इनोवा के टायर पर लगे। टायर फटने के बावजूद भी इनोवा चालक ने गाड़ी को नूरपुर की तरफ मोड़ दिया। 2 किलोमीटर दूर जाने के बाद रास्ता बंद होने के कारण गाड़ी में से चार युवक उतरे और भाग गए। ऐसे में गांव निवासियों तथा पुलिस ने मिलकर घेराबंदी करते हुए दो गैंगस्टरों को काबू कर लिया, जबकि दो फरार होने में कामयाब हो गए। 

गिरफ्तार गैंगस्टरों की पहचान जगतार सिंह उर्फ निक्का पुत्र अमरजीत सिंह निवासी साधा वाली बस्ती मोगा और जसकरण सिंह उर्फ अजय पुत्र चरणजीत सिंह मोगा के तौर पर हुई है। वहीं फरार आरोपियों की पहचान ज्योति पुत्र पूर्ण सिंह मोगा, कर्मा पुत्र जंग सिंह मोगा के रूप में हुई है। आरोपियों को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर रिमांड पर लिया गया है। पुलिस का दावा है कि रिमांड के दौरान इनकी निशानदेही पर लूटपाट, हाईवे रॉबरी, चोरी तथा डकैती की बड़ी वारदातें ट्रेस होने की संभावना है। वहीं फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दल लगातार दबिश दे रहा है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Moga car looted at gunpoint

More News From punjab

Next Stories
image

free stats