image

शाहकोट : सतलुज दरिया के किनारे बस गांव बाऊपुर के लोगों की पूर्व रात्रि उस समय नींद हराम हो गई जब गुरुद्वारे से एक सूचना जारी हुई कि गांव के नजदीक बांध को खोरा लगना शुरू हो गया है और पानी तेजी से बह रहा है। ऐसा सुनते ही लोगों की चिंता एक बार फिर उनके माथे पर दिखाई देने लगी। गांववासी अफरा-तफरी में बांध को बचाने के लिए सामान लेकर घरों से निकल पड़े और बांध को बचाने के लिए काम शुरू कर दिया। वीरवार की पूर्व रात्रि 8 बजे के करीब पानी का बहाव बाऊपुर के नजदीक बांध की ओर हो गया था, जिस कारण पानी ने बांध के अंदर बनी नोच को तोड़ना शुरू कर दिया। 

गांववासियों ने और लोगों की सहायता से वहां पर वृक्ष काटकर लग रहे खोरे को रोकने के प्रयास शुरू कर दिए। काफी मशक्कत के बाद लोगों ने बांध को लग रहे खोरे को रोकने में कामयाब हुए। विधायक हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया और एस.डी.एम. डा. चारूमिता मौके पर पहुंचे और नहरी विभाग के कर्मचारियों को जरूरी आदेश जारी कर दिए। इस मौके पर बलजीत सिंह, भजन सिंह बाऊपुर, परमजीत सिंह, पूरन सिंह, बलविंदर सिंह, सुखविंदर सिंह, संता सिंह, मलकीत सिंह, ईश्वर सिंह, लखविंदर सिंह, डा. बिंदरजीत सिंह, सुरजीत सिंह, छिंदर सिंह आदि ने शिकायत की कि नहरी विभाग के एसडीओ को बार-बार फोन करने पर भी उन्होंने फोन नहीं उठाया। स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रशासन की ओर से बचाव कार्यो के लिए भरोसा दिया जाता है, लेकिन हकीकत में कुछ भी नहीं किया जा रहा। वहां पर मौजूद लोगों ने बताया कि अगर लोगों की ओर से खाली बोरियों की मांग की गई तो उस पर भी प्रशासन ने मुंह फेर लिया। उन्होंने कहा कि अगर पानी का स्तर कम होने के बाद भी यहां कहीं नजदीक से अगर बांध टूटता है तो वह सब प्रशासन की लापरवाही के चलते ही होगा। अब देखना यह है कि क्या प्रशासन इस मामले को पूरी गंभीरता से लेता है या फिर किसी अप्रिय घटना का इंतजार कर रहा है?

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: flood in punjab 

More News From punjab

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats