image

जालंधर: नगर निगम में मिनिस्टीरियल स्टाफ की चल रही हड़ताल के कारण दफ्तर का कामकाज एक सप्ताह से ठप्प हो रखा है, तो अब बुधवार से सफाई सेवकों व सीवरमैनों की हड़ताल के कारण शहर में कूड़ा उठाने का काम भी ठप्प हो जाएगा। पंजाब सफाई मजदूर फैडरेशन की अगुवाई में निगम की समूह यूनियनें हड़ताल पर जा रही हैं, जिसको लेकर एक पखवाड़ा पहले ही निगम कमिश्नर व मेयर को नोटिस दे रखा है। सफाई सेवकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल से एक बार फिर सफाई व्यवस्था का चरमरा जाना तय है।

पंजाब मिनिस्टीरियल स्टाफ सर्विसेज यूनियन के ऐलान पर निगम के स्टाफ ने बुधवार से कलमछोड़ हड़ताल कर रखी है, इस बीच 3 दिनों का सरकारी अवकाश भी शामिल है, जब लोगों के काम नहीं हुए। यूनियन ने फिलहाल 21 फरवरी को सरकार से वार्ता तक हड़ताल का ऐलान कर रखा है और अगर बैठक में बात नहीं बनी तो फिर हड़ताल आगे भी बढ़ सकती है। लेकिन ऐसे में सफाई सेवकों के हड़ताल पर जाने से निगम प्रशासन और आम लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। पंजाब सफाई मजदूर फैडरेशन के प्रधान चंदन ग्रेवाल का कहना है कि लंबित मांगों को लेकर पहले ही निगम प्रशासन को चेतावनी दे चुके थे, बावजूद सरकार से लेकर निगम स्तर पर कोई सुनवाई नहीं हुई है। 

मेयर ने मांगों को लेकर निकाय मंत्री से बैठक करवाने का आश्वासन दिया था, लेकिन अब तक ऐसा कुछ भी नहीं हो पाया है।  मेयर जगदीश राजा का कहना है कि निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से संपर्क करने में लगे हैं, ताकि यूनियन की मांगों को लेकर उनके साथ बैठक करवाई जा सके।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Cleaners on strike in Jalandhar

More News From punjab

free stats