image

जालंधरः पंजाब के नकोदर में 33 वर्ष पूर्व पुलिस फायरिंग में मारे गए चार सिख युवकों के परिजनों ने मंगलवार को सरकार से मांग की है कि गोली चलाने के लिए लिए जिम्मेवार पुलिस अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की जाए। पुलिस फायरिंग में मारे गए रविंदर सिंह के पिता बलदेव सिंह ने अन्य पीड़ित परिवारों सहित मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि जालंधर के नकोदर में दो फरवरी 1986 को श्री गुरु ग्रंथ साहिब के पांच स्वरुपों को जला दिया गया था जिससे उपजे तनाव के पश्चात क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया था। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने गुरुद्वारा जा रहे उनके लड़कों पर गोलियां चला दी जिसमें चार युवक रविंदर सिंह लितरां, बलधीर सिंह रामगढ़, झिलमिल सिंह गोरसिया और हरमिंदर सिंह की मौत हो गई थी।

Read More  कैप्टन का इमरान को जवाब- मसूद को बाहर निकालो, सबूत क्या चाहिए

सिंह ने आरोप लगाया कि घटना की जांच के लिए तत्कालीन अकाली दल की सरकार ने न्यायमूर्ति गुरनाम सिंह आयोग का गठन किया था जिसने गोलीकांड के लिए कुछ पुलिस अधिकारियों को दोषी ठहराया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने साल 2001 में गुरनाम सिंह आयोग की रिपोर्ट विधानसभा में पेश की थी लेकिन किसी भी दोषी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कार्रवाई करने की बजाए दोषी पुलिस अधिकारियों को अकाली दल में शामिल कर लिया।

Read More  आतंकियों को सेना की चेतावनी- कश्मीर में जो बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा  

सिंह ने आरोप लगाया कि उनके द्वारा मृत युवकों की पहचान करने के बावजूद पुलिस ने शवों का अज्ञात के तौर पर अंतिम संस्कार कर दिया। उन्होंने इसके लिए तत्कालीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इजहार आलम और जिला उपायुक्त दरबारा सिंह गुरु को दोषी ठहराते हुए हत्याकांड में उनकी भूमिका की जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि गोलीकांड में तीन युवकों की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी थी जबकि चौथे युवक को पुलिस ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में गोली मार कर मार डाला।

Read More  बेंगलुरु में एयर शो के दौरान बड़ा हादसा, दो एयरक्राफ्ट हुए क्रैश

पीड़ित परिवारों ने मांग की है कि उस हत्याकांड की जांच के लिए स्पेशल जांच दल (एसआईटी) का गठन किया जाए। पंजाब सरकार न्यायमूर्ति गुरनाम सिंह आयोग की रिपोर्ट पर कार्रवाई रिपोर्ट ले तथा दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर सख्त कार्रवाई की जाये। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: after 33 years case filed against police officers in Jalandhar

More News From punjab

IPL 2019 News Update
free stats