image

जालंधर: पी.ए.पी. चौक में हुए कैमिकल अटैक मामले में फरार चौथे आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी, पर न एड्रैस मिला न पता चल पाया कि प्रीत दिखता कैसा है। सोमवार को पुलिस न रिमांड खत्म होने पर तीनों आरोपियों को अदालत  में पेश किया जहां से मनी का दो दिन का रिमांड हासिल किया है और मास्टर माइंड फौजी गुरदीप सिंह व उसके बुआ के लड़के जसविंदर को जेल भेज दिया है। 

Read More जालंधर एसिड अटैक मामला: पीड़िता के भाई ने चली थी पूरी चाल, ऐसे बनाया निशाना 

थाना कैंट प्रभारी इंस्पैक्टर सुखदेव सिंह व ए.एस.आई. जसवंत सिंह ने बताया कि रिमांड के दौरान मनी से पूछताछ में पता चला था कि प्रीत उसके मोहल्ले में किराएदार था वह क्या करता है उसे नहीं मालूम। फैक्टरी से कैमिकल लाने के लिए पैसे प्रीत ने दिए थे, मनी ने बताया कि प्रीत ने कहा था कैमिकल तुम फैंकना ज्यादा पैसे मिलेंगे तो उसने उतरकर एसिड पीड़िता के मुंह पर रगड़ दिया। उसे नहीं पता था कि इससे लड़की का चेहरा झुलस जाएगा, फौजी गुरदीप, जसविंदर व प्रीत ने कहा था कि इससे उसे जलन महसूस होगी और कुछ नहीं। 

Read More  जालंधरः काम पर जा रही लड़की पर तेजाब से हमला, अस्पताल में भर्ती

पुलिस ने मनी के बताए ठिकाने मोतीनगर लुधियाना में जहां प्रीत किराए पर रहता था वहां छापेमारी की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। पुलिस को प्रीत को पकड़ने में मुश्किलें आ रही हैं क्योंकि पता ही नहीं कि प्रीत कहां का रहने वाला हैऔर लुधियाना में क्या काम करता था। मनी व अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही प्रीत अंडर ग्राऊंड हो गया। मनी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसे मनिंदर कौर पर कैमिकल फैंकने पर 13,500 रुपए और प्रीत को 10 हजार रुपए मिले थे। 

Read More  जालंधरः एसिड अटैक मामले में पुलिस को सफलता, तीन युवकों को किया गिरफ्तार

वारदात को अंजाम देने के बाद सभी ने प्रीत के रूम पर पार्टी की औरॉ सुबह फौजी गुरदीप सिंह व जसविंदर हिमाचल के लिए निकल गए। प्रीत को पकड़ने के लिए पुलिस ने मनी का दो दिन का रिमांड लिया है और पता किया जा रहा है कि आरोपी कहां जा सकता है। पुलिस को प्रीत का हुलिया भी नहीं पता चला, फोन नंबर मिला जो कि अन्य के नाम पर सिम रजिस्टर्ड है, आई.पी. एड्रैस में कुछ नहीं मिला। पुलिस मनी की मदद से प्रीत का हुलिया तैयार करवा रही है क्योंकि पुलिस अब तक यही पता नहीं लगा सकी कि प्रीत दिखता कैसा है। पुलिस को शक है कि प्रीत दूसरे राज्य से था, क्योंकि उसकी भाषा साऊथ की थी और लुधियाना में किसी फैक्टरी में काम करता था। पुलिस हुलिया तैयार करवा कर दूसरे राज्यों की पुलिस से संपर्क कर रही है और जल्द ही आरोपी को पकड़ लिया जाएगा। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Acid attack case in jalandhar

More News From punjab

IPL 2019 News Update
free stats