image

जालंधर: नकोदर के गांव तलवंडी भरौं में सभ्य समाज को कलंकित करने वाली शर्मसार वारदात घटित हुई है। एक गरीब परिवार की 12 साल की बच्ची पड़ोसी के घर टीवी देखने गई। घर के मालिक बाहर गए हुए थे और घर में सिर्फ उनका 20 साल का बेटा मिथुन था। मिथुन ने अपने दोस्त अश्वनी पुत्र बिट्टू को घर बुला लिया। दोनों की नियत बदल गई और बच्ची को बंधक बना कर अश्वनी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। थाना नकोदर की पुलिस ने मुख्यारोपी अश्वनी को सिविल अस्पताल नकोदर से गिरफ्तार कर लिया। बाद में अश्वनी की मदद करने वाले दोस्त मिथुन को मोहल्ले से काबू कर लिया। दोनों आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म तथा बंधक बनाने के साथ-साथ पोस्को एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। 

सिविल अस्पताल जालंधर में पुलिस के साथ मैडीकल करवाने आए पीड़िता के पिता ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि वह मेहनत मजदूरी करता है। उसकी एक बेटी व बेटा है। पत्नी को गठिया की बीमारी है और घर में 70-75 साल के बूढ़े मां-बाप हैं। पीड़ित के अनुसार वह अपनी पत्नी के साथ कपूरथला से दवाई लेने गया हुआ था। घर में बेटी और बेटा अकेले थे। 

देर शाम जब वह वापस आए तो बेटे ने बताया कि दीदी के साथ पड़ोसी युवक अश्वनी ने गलत काम किया है। उनकी बेटी खून से लथपथ हालत में थी और वह इस कदर घबराई हुई थी कि किसी से बात नहीं कर रही थी। जब मां ने बच्ची से बात की तो उसने बताया कि वह पड़ोसी मिथुन के घर रोजाना की तरह टीवी देखने गई हुई थी। इसी दौरान उसने फोन कर अपने दोस्त अश्वनी को भी बुला लिया। कुछ देर बाद मिथुन ने कहा कि वह ऊपर छत पर किसी काम से जा रहा है। अश्वनी उसके पास ही बैठा रहा। 

पीड़िता के अनुसार इससे पहले कि वह कुछ समझ पाती अश्वनी ने दरवाजे की कुंडी लगा दी और उसका मुंह बांध दिया तथा उसके साथ दुष्कर्म किया। वह चीखती रही मगर मुंह बंधा होने के कारण उसकी चीख कमरे से बाहर नहीं जा रही थी। दरिंदे ने मारपीट कर उसके हाथ-पांव भी बांध दिए और उसे हवस का शिकार बना डाला। आरोपियों ने बच्ची को धमकाया कि अगर किसी को बताया तो चाकू से गला काट देंगे।

वहीं कुछ देर बाद उसका (बच्ची) भाई उसे तलाशने के लिए मिथुन के घर आया तो काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बावजूद अंदर से कोई जवाब नहीं दिया। उसके भाई ने लोगों को बुलाया तो आरोपी का साथी मिथुन भाग कर नीचे आया और आनन-फानन में दरवाजा खोला। इसके बाद बच्ची के भाई तथा मोहल्लावासियों ने आरोपियों की छित्तरपरेड की। लोगों ने मिथुन को काबू कर थाना नकोदर की पुलिस के हवाले कर दिया, जबकि मुख्यारोपी अश्वनी भाग गया और सिविल अस्पताल नकोदर में दाखिल हो गया। वहीं पुलिस ने दोनों आरोपियों पर मामला दर्ज कर उनकी ऑन रिकॉर्ड गिरफ्तारी डाल दी है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 12 year old raped in Jalandhar

More News From punjab

Next Stories
image

free stats