image

चंडीगढ़: कैप्टन सरकार ने पाकिस्तान को जाने वाले अतिरिक्त पानी को रोकने के लिए कमर कस ली है। सिंचाई मंत्री सुख सरकारिया ने केंद्रीय जल स्नेत मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात के लिए 27 फरवरी का समय मांगा है। वीरवार को गडकरी ने रावी जैसी पूर्वी दरियाओं के जरिए पाकिस्तान को जाने वाला पानी रोकने की बात बड़े जोर-शोर से कही थी। 

सुख सरकारिया ने दैनिक सवेरा से बातचीत में कहा कि दीनानगर के पास मकौड़ा पत्तन पर रावी दरिया पर डैम बनाने की योजना है। यह डैम पाकिस्तान को जाने वाला अतिरिक्त पानी रोकने में कारगर साबित होगा। इस डैम पर जम्मू-कश्मीर से आने वाली उज नदी का पानी भी इकट्ठा किया जाएगा और इस डैम से एक छोटा सा कैरियर चैनल निकाल कर पानी कलानौर और रमदास डिस्ट्रीब्यूट्री में गालड़ी गांव के पास इकट्ठा किया जाएगा। इससे दीनानगर, कलानौर और गुरदासपुर जैसे कस्बों को पीने के लिए पानी मुहैया करवाया जाएगा। 

माधोपुर से 35 कि.मी. नीचे प्रस्तावित मकौड़ा पत्तन डैम को राष्ट्रीय प्रोजैक्ट घोषित करने पर भी जोर

*    मकौड़ा पत्तन माधोपुर से 35 कि.मी. नीचे है। रंजीत सागर डैम से पहले पानी शाहपुर कंडी डैम में आएगा जिसका निर्माण दोबारा शुरू हो चुका है। 
*    यह डैम पूरा होने के बाद जम्मू क्षेत्र की 37 हजार हैक्टेयर जमीन को पानी मिलेगा। अब यह पानी व्यर्थ पाकिस्तान को मिल रहा था। 
*    शाहपुर कंडी से आगे माधोपुर और उससे आगे मकौड़ा पत्तन पर यह पानी एकत्रित होगा और इसका प्रयोग सिंचाई और पीने के लिए किया जाएगा। इस तरह रावी का भारतीय हिस्से वाला पानी पाकिस्तान जाना रुक जाएगा। सरकारिया ने कहा वह गडकरी से मकौड़ा पत्तन पर डैम बनाने के लिए फंड की मांग करेंगे और इसे राष्ट्रीय प्रोजैक्ट घोषित करने के लिए जोर डालेंगे।
*    बंटवारे के बाद भारत के हिस्से तीन पूर्वी दरिया आए थे - रावी, सतलुज और ब्यास। इनके पानी पर भारत का हक है। सिंधु नदी जल समझौते (1960) के तहत इन दरियाओं का पानी भारत में ही प्रयोग होना हैं। मानसून में काफी सारा पानी रावी के जरिए पाकिस्तान चला जाता है। डैम बनने से यह रुकेगा। अभी शाहपुर कंडी डैम भी पानी रोकने के लिए बनाया गया था। इसके निर्माण में कई अड़चनें आईं। 
*    पाकिस्तान के हिस्से में तीन दरिया ङोलम, चिनाब और सिंधु का पानी आया है। ये सभी दरिया जिनमें सतलुज, ब्यास और रावी शामिल हैं, बाद में पकिस्तान में जाकर मिठन्न कोट के पास सिंधु में मिलकर अरब सागर में चले जाते हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Punjab to make dams on Ravi near Dinanagar to stop extravagant water going to Pakistan

More News From punjab

free stats