image

चंडीगढ़ः पंजाब विधानसभा में आज अकाली दल और कांग्रेस का उग्र रुप देखने को मिला। दो वरिष्ठ नेता आज एक दूसरे के आमने- सामने आ गए। हंगामा इतना जोरदार हो गया कि नौबत हाथोपाई तक पुहंच गई। दरअसल विधानसभा में नवजोत सिंह सिद्धू और अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया में तीखी नोकझोंक हो गई। बात इतनी बढ़ गई को स्पीकर को सदन की कार्यवाई 10 मिनट तक के लिए स्थगित करनी पड़ी।

Read More  अंतिम विदाई के लिए हरिद्वार पहुंचा मेजर बिष्ट का पार्थिव शरीर, आसमान की आंखे भी हुई नम

सदन की कार्यवाई शुरु होते ही जैसे ही मनप्रीत बादल ने बजट स्पीच पढ़नी शुरु की, वैसे ही अकाली दल ने हंगामा करना शुरु कर दिया। अकाली दल ने नवजोत सिद्धू के पुलवााम वाले बयान पर जोरदार हंगामा किया और सिद्धू के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। थोडी देर तक तो नवजोत सिद्धू ये सब बर्दाश्त करते रहे। लेकिन जब उनके सब्र का बांध टूट गया तो बिक्रम सिंह मजीठिया और नवजोत सिद्धू आमने- सामने हो गए। दोनों नेताओं में सिर्फ दो इंच की दूरी रह गई। कांग्रेसी विधायकों ने सिद्धू को सीट पर बैठाने की कोशिश की, लेकिन सिद्धू इतने गुस्से में आ गए कि उन्होनें अपशब्द बोलने शुरु कर दिए।  इसके बाद सदन की कार्यवाई को 10 मिनट तक के लिए रोक दिया गया। 

Read More  सेना ने लिया पहला बदला, पुलवामा हमले के इस मास्टरमाइंड को किया ढेर

आपको बता दें कि इससे पहले अकाली दल ने सदन के बाहर हंगामा किया और नवजोत सिद्धू और पाक आर्मी चीफ के पोस्टर फाड़े गए। बिक्रम् मजीठिया ने तो नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान का चमचा तक कह दिया था। अकाली दल मांग कर रहा था कि सीएम अमरिंदर सिंह नवजोत सिद्धू के बयान पर कोई स्पष्टीकरण दें, लेकिन अकाली दल के हंगामे के चलते सदन की कार्यवाई रुक गई और आम आदमी पार्टी ने तो हंगामे के चलते सदन से वॉकआउट ही कर दिया। 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Punjab budget session 2019

More News From punjab

Next Stories
image

free stats