image

चंडीगढ़ : लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 12 फरवरी से शुरू होने वाला पंजाब विधानसभा का बजट सत्र बेहद महत्वपूर्ण है। बजट सत्र में सरकार कई महत्वपूर्ण बिल लेकर आ रही है जबकि चुनाव को देखते हुए किसान और युवाओं के लिए कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं कर सकती है। पंजाब विधानसभा दोफाड़ होने के बाद आम आदमी पार्टी के सदस्यों को लेकर अकाली दल मुद्दा बना सकता है क्योंकि ‘आप’ के पास अभी सिर्फ 12 विधायक रह गए हैं जबकि अकाली-भाजपा गठबंधन के 17 विधायक हैं। 

पंजाब सरकार बजट सत्र में पंजाब लैजिसलेटिव असैंबली (सैलरीज एंड अलाऊंस मैंबर्स) एक्ट-1942, द पंजाब वन टाइम वालंटरी डिस्क्लोजर एंड सैटलमैंट ‘आप’ वौयलेशन औफ बिल्डिंग बिल-2019 और कांट्रैक्ट फाìमग से संबंधित बिल आने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक अगले 2 दिनों में होने वाली कैबिनेट की बैठक में कुछ अन्य महत्वपूर्ण बिलों को मंजूरी दी जाने की संभावना है, बाद में इसे सदन में पेश किया जाएगा। लोकसभा चुनाव को देखते हुए सरकार कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं भी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार के किसान सम्मान राशि की मद में 6 हजार रुपए प्रति वर्ष किसान परिवार को मिलने वाली सहायता में सरकार राज्य की ओर से कुछ अपना अंशदान कर सकती है। पता चला है कि सरकार बजट में किसान सम्मान राशि की मद में 1500 रुपए की घोषणा कर सकती है ताकि प्रतिवर्ष 2 हैक्टेयर वाले किसानों को प्रतिवर्ष 7,500 रुपए मिल सकें, इसमें 6 हजार रुपए केंद्र सरकार देगी। युवाओं को दिए जाने वाले मोबाइल फोन के बारे में भी बजट में प्रावधान होगा क्योंकि मोबाइल फोन के संबंध में टैंडर हो चुके हैं। किसान कर्ज राहत स्कीम की मद में पिछले बजट के मुकाबले इस साल बजट 2 गुना किया जा सकता है। 

बजट सत्र में सदन में आम आदमी पार्टी के सदस्यों की संख्या को लेकर अकाली दल कोई मुद्दा नहीं बनाने जा रहा है। सदन में ‘आप’ विधायकों की संख्या 20 में से 12 रह गई है जबकि 7 विधायक सुखपाल खैहरा के साथ पंजाबी एकता पार्टी के खेमें में हैं। एक अन्य विधायक एचएस फूलका इस्तीफा दे चुके हैं लेकिन स्पीकर राणा केपी सिंह ने इसे स्वीकार नहीं किया है। स्पीकर ने बताया कि फूलका को नोटिस भेज कर 20 फरवरी को बुलाया गया है। उधर, शिअद प्रवक्ता डा. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि उनकी पार्टी सदन में ‘आप’ विधायकों की संख्या का मुद्दा नहीं उठाएगी और उसका सारा फोकस जनता के मुद्दों पर होगा। चीमा ने कहा कि यह मुद्दा उन्होंने स्पीकर और पंजाब की जनता पर छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि राजनीति में जो लोग नैतिकता और पारदर्शिता की बात करते थे, आज कुर्सी के लिए अपना राजधर्म बेच चुके हैं। चीमा ने कहा कि पंजाब की जनता आम आदमी पार्टी को अगले लोकसभा चुनाव में जवाब देगी। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Punjab assembly budget session

More News From punjab

free stats