image

चंडीगढ़: स्थानीय निकाय विभाग छिनने से नाराज कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस हाईकमान की शरण में चले गए हैं। सिद्धू शुक्रवार को ही नई दिल्ली के लिए रवाना हो गए। समझा जाता है कि जब तक हाईकमान से उन्हें कोई आश्वासन नहीं मिलता सिद्धू अपना नया विभाग ज्वाइन नहीं करेंगे। मंत्रिमंडल में फेरबदल के बाद महकमा बदलते ही नवजोत सिद्धू आज दिल्ल  रवाना हो गए। वह अपने साथ लोकसभा चुनाव परिणाम से जुड़े दस्तावेज और अपने पुराने महकमे स्थानीय निकाय से जुड़ी प्रगति रिपोर्ट लेकर गए हैं। इस रिपोर्ट में पिछले 2 सालों की उपलब्धियां गिनाई गई हैं। 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 3 दिन के दौरे पर हैं और उम्मीद है कि उनके वापस आते ही अगले एक-दो दिनों में सिद्धू उनसे और महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात करने की कोशिश करेंगे। समझा जाता है कि सिद्धू अपने विभाग की प्रगति रिपोर्ट लेकर गए हैं और वह बेहतर कारगुजारी के बावजूद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा खराब प्रदर्शन का हवाला देकर विभाग छीने जाने का मुद्दा राहुल के सामने उठाएंगे। सिद्धू इस पूरे मामले में खुद को बेकसूर साबित करने की कोशिश में हैं।

सूत्रों का कहना है कि सिद्धू स्थानीय निकाय विभाग में ही काम करना चाहते हैं और ऊर्जा विभाग दिए जाने से वह खुश नहीं हैं। सिद्धू के नजदीकियों का दावा है कि वह हाईकमान से अपना पुराना विभाग वापस लेकर ही लौटेंगे और अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह इस्तीफा देने का मन बना चुके हैं। उनका कहना है कि नवजोत सिद्धू को एक साजिश के तहत उनसे निकाय विभाग छीना गया है। सिद्धू ने कभी किसी पर वार नहीं किया जबकि पहला हमला कैप्टन अमरेंद्र सिंह की ओर से किया गया है। उधर, प्रदेश प्रभारी आशा कुमारी ने कहा कि नवजोत सिद्धू ने फिलहाल उनसे कोई बातचीत नहीं की है। 

जब उनसे पूछा गया कि सिद्धू अपने नए विभाग से खुश नहीं हैं और पुराना विभाग ही चाहते हैं तो आशा कुमारी ने कहा कि कौन खुश है और कौन नाराज है। अभी तक उनसे किसी ने नाराजगी जाहिर नहीं की है। इतना जरूर पता है कि मंत्रिमंडल में फेरबदल हाईकमान की राय के बाद ही किया गया है। पार्टी ने जो फैसला लिया है वह राज्य की बेहतरी के लिए ही किया गया है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Navjot Singh Sidhu will not join news department before meet high command

More News From punjab

Next Stories

image
free stats