image

चंडीगढ़: कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भले ही ऊर्जा विभाग का चार्ज न संभाला हो लेकिन उन्होंने ऊर्जा विभाग के कुछ अधिकारियों के साथ मुलाकात की। मंगलवार को सिद्धू चंडीगढ़ तो पहुंच गए लेकिन उन्होंने अपने विभाग का चार्ज नहीं लिया। दिनभर सबकी नजरें सचिवालय स्थित उनके दफ्तर पर टिकी रहीं। उधर, सरकार की सबसे बड़ी सिरदर्दी यह है कि 13 जून से धान की रोपाई का सीजन शुरू हो रहा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह किसानों को 8 घंटे बिजली की सप्लाई की घोषणा कर चुके हैं लेकिन सिद्धू विभाग नहीं संभाल रहे हैं। 

सिद्धू के नजदीकियों के मुताबिक वह बाद दोपहर दिल्ली से चंडीगढ़ लौट आए और इसके बाद अपने सरकारी आवास में रहे लेकिन पास में ही स्थित सचिवालय में अपने दफ्तर पहुंच कर चार्ज संभालने नहीं पहुंचे। पावरकाम के कुछ अधिकारियों ने हालांकि उनसे मुलाकात कर उन्हें विभाग के बारे में ब्रीफिंग दी है। इससे उम्मीद है कि सिद्धू बुधवार को नए विभाग का चार्ज संभाल सकते हैं। 

मालूम हो विभाग बदले जाने से नाराज सिद्धू ने सोमवार को राहुल और प्रियंका वाड्रा से नई दिल्ली में मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने एक पत्र भी राहुल गांधी को सौंपा था। हालांकि राहुल ने उन्हें कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया लेकिन दो दिग्गजों के बीच विवाद निपटाने की जिम्मेवारी वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को जरुर सौंपी है। चूंकि सिद्धू ने आज अपने विभाग के अधिकारियों के साथ मुलाकात की इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि उनके तेवर नरम पड़ गए हैं और वह जल्द चार्ज संभाल सकते हैं।

उधर, 13 जून से पंजाब में धान की रोपाई का सीजन शुरू हो रहा है। रोपाई सीजन के लिए किसानों को आठ घंटे निर्विघ्न बिजली की सप्लाई के आदेश मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह खुद दे चुके हैं। इस कारण यह भी चर्चा है कि अगर सिद्धू ने अगले एक दो दिन कामकाज नहीं संभाला तो मुख्यमंत्री को ऊर्जा विभाग की चुनौतियों का सामना करने के लिए विभाग का कामकाज खुद संभालना पड़ेगा। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Navjot singh sidhu not taking charge of his new post

More News From punjab

IPL 2019 News Update
free stats