image

चंडीगढ़: पंजाब विधानसभा में आज राज्यपाल के अभिभाषण पर बहस के दौरान कांग्रेस के कुलजीत नागरा और अकाली सदस्य बिक्रम सिंह मजीठिया के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। नागरा ने जलियांवाला बाग कांड पर पारित किए गए प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा कि जनरल डायर को उस समय मजीठिया परिवार ने सिरोपा भेंट कर डिनर करवाया था। मजीठिया ने इसका विरोध करते हुए स्पीकर से मांग की कि सदन में उनके बुजुर्गो का अपमान किया जा रहा है, इसे रोका जाए।

अभिभाषण पर बोलते हुए नागरा ने कहा कि पांच साल पहले नरेंद्र मोदी तब के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से पाकिस्तान को लेकर पांच सवाल पूछते थे। मोदी यह भी कहते थे कि पाक के खिलाफ कार्रवाई के लिए 56 इंच का सीना होना चाहिए। अब देश प्रधानमंत्री मोदी से उन्हीं के उठाए पांच सवाल कर इसका जवाब मांग रहा है। 

जलियांवाला बाग कांड में जनरल डायर को सिरोपा और डिनर देने का मुद्दा उठाने पर मजीठिया ने नागरा का कड़ा विरोध किया। नागरा ने कहा कि मजीठिया के पुरखों ने जो किया उसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। इस पर मजीठिया ने क हा कि इंदिरा गांधी ने दरबार साहिब पर हमला करवाया, क्या कांग्रेस माफी मांगेगी। इस दौरान कांग्रेसी सदस्यों ने मजीठिया का विरोध किया। बहस में हस्तक्षेप करते हुए सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि अकाली दल ने उस समय अंग्रेजों के  लिए मुखबिरी करने वालों को एसजीपीसी मैंबर बनाया था। 84 में मजीठिया का परिवार कांग्रेसी था। 

अंग्रेजों ने मजीठिया परिवार को बकायदा टाइटल दिया था। मजीठिया ने इसका फिर विरोध किया। नागरा ने कहा कि अगर ऐसा नहीं है फिर अंग्रेजों की ओर से मजीठिया परिवार को गोरखपुर में जमीन क्यों दी गई थी। इस पर मजीठिया ने कहा कि मेरे दादा सुंदर सिंह मजीठिया देश के रक्षा मंत्री रहे, खालसा कालेज को स्थापित करने वाले वही थे। इसके अलावा चीफ खालसा दीवान में भी उनका योगदान रहा। उन्होंने दोबारा स्पीकर से कहा कि सदन में उनके बुजुर्गो का अपमान न किया जाए। इस पर नागरा और मजीठिया में तीखी नोक-झोंक हुई। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Kuljeet Nagra statement on Bikram Singh Majithia

More News From punjab

IPL 2019 News Update
free stats