image

चंडीगढ़: चुनाव आयोग द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान रक्षा सैनिकों से संबंधित तस्वीरों के प्रयोग के विरुद्ध जारी किए दिशा-निर्देशों का स्वागत करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राजनीतिक लाभ लेने के लिए रक्षा सेनाओं के सियासीकरण का अंत करने का न्यौता दिया है। यहां से जारी एक बयान में मुख्यमंत्री ने कहा कि सेना के सियासीकरण के द्वारा शोहरत कमाना उतना ही गलत है, जितना राजनीतिक लाभ कमाने के लिए रक्षा सेनाओं की तस्वीरें इस्तेमाल करना।

चुनाव आयोग ने शनिवार को देश की सभी राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पार्टियों को एडवाइजरी जारी करके कहा था कि अपने चुनाव प्रचार या मुहिम के दौरान इश्तहारों या अन्य किसी भी तरह रक्षा सेनाओं की तस्वीरें या रक्षा सेनाओं की भागीदारी वाले समागमों वाली तस्वीरें छापने से संकोच किया जाए। राजनीतिक पार्टियों को रक्षा सेनाओं के सियासीकरण की किसी भी कोशिश से दूर रहने की अपील करते हुए कैप्टन ने कहा कि यह बहुत अच्छी बात है कि चुनाव आयोग ने नियंत्रण रेखा से पार हाल ही में भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के मद्देनजर राजनीतिक लाभ कमाने के लिए ऐसी फोटो बरतने के शर्मनाक अमल का नोटिस लिया है। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सेना के कामकाज में किसी भी तरह की राजनीतिक दखलअन्दाजी सुरक्षा और देश और यहां के लोगों के लिए बहुत घातक है। मुख्यमंत्री ने रक्षा सेनाओं पर राजनीतिक नियंत्रण देश और इसके भविष्य के लिए उतना ही घातक हो सकता है, जितना राजनीति में सेना के दखल से हो सकता है। उन्होंने राजनीतिक पार्टियों को यह गलती न करने चेतावनी दी क्योंकि ऐसी भूल ने कई देशों को संकट में डाला है। उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि सेना हमारे देश की अहम संस्था है और उनके अथॉरटी को किसी तरह का नुक्सान पहुंचने से हमारे लोगों की सुरक्षा को खतरा पैदा हो सकता है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Amarinder welcomes the ban on the use of photographs of soldiers

More News From punjab

free stats