image

अमृतसर : 2017 में जीजा के द्वारा अपनी साली को कोल्ड ड्रिक में नशीला पदार्थ पिलाकर रेप करने के मामले में जिला पुलिस हाईकोर्ट के आदेश को भी नहीं मान रही। पीड़िता इंसाफ के लिए पुलिस अधिकारियों के आॅफिसों के चक्कर लगाने को मजबूर है। पीड़िता दिल्ली निवासी सुमन (काल्पनिक नाम) ने आरोप लगाया कि 15 फरवरी 2017 को उसके जीजा ने उससे दुष्कर्म किया। घटना के तीसरे दिन उसने इसकी जानकारी पुलिस को दी, परंतु पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, मजबूरन उन्होंने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका लगाई। अदालत ने 1 महीने में पुलिस को इस घटना की जांच करने के बाद आरोपियों पर कानूनी कारवाई करने को कहा, परंतु घटना के 2 साल बीत जाने के बाद भी उसे इंसाफ नहीं मिला।  

पीड़िता ने बताया कि उसका मायका परिवार लोहरका रोड पर रहता है और उसकी छोटी बहन की शादी अश्वनी कुमार से हुई थी। उसके पिता की तबीयत ठीक नहीं थी जिसके चलते 14 फरवरी 2017 को वह दिल्ली से ट्रेन से अमृतसर पहुंची। दोपहर को वह अपने पिता के घर पहुंची और उसने उनका हालचाल पूछा। उनके पिता ने अपने छोटे दामाद से कहा कि वह उसकी दिल्ली जाने के लिए टिकट ट्रेन में बुक करवा दे। इस पर उसने 16 फरवरी 2017 की ट्रेन की टिकट बुक करवा दी। 15 फरवरी को उसका जीजा उसे छोटी बहन से मिलाने के लिए तहसीलपुरा स्थित अपने घर ले गया। वहां पहुंचकर उसने उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ दिया। वह बेसुध होकर वहां सो गई तो रात को उसका जीजा मौका पाकर उसके कमरे में पहुंचा और उसे हवस का शिकार बनाया। देर रात जब उसे होश आई तो वह अद्धनग्नावस्था में थी और उसका जीजा उसके साथ लेटा हुआ था। वह सारी बात समझ चुकी थी, परंतु शर्म के मारे उसने यह बात किसी को नहीं बताई।

उसके जीजा ने उसे धमकाया कि अगर वह यह बात किसी को बताएगी तो वह उसे जान से मार देगा। वह चुपचाप 16 फरवरी को ट्रेन से अपने घर दिल्ली पहुंची। वहां जाकर उसने 2 दिन बाद इस घटना की जानकारी मोबाइल फोन पर पिता को दी। वह चाहती थी कि उसके पिता पुलिस को इस घटना की शिकायत करें, परंतु छोटी बेटी का घर उजड़ न जाए, उन्होंने ऐसा नहीं किया और वह परेशान रहने लग पड़े। 7 मार्च 2017 को उनके पिता ने आत्महत्या कर ली। 28 मार्च 2017 को उन्होंने परिवार के सदस्यों ने मिलकर अश्वनी के खिलाफ रेप के आरोप में पुलिस कमिश्नर को शिकायत दी थी, परंतु पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके चलते उन्होंने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। 

13 नवंबर 2018 को हाईकोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला पुलिस को आदेश जारी जांच करवाकर कार्रवाई करने को कहा, परंतु अब तक पुलिस ने कोई भी कार्रवाई नहीं की। वहीं दूसरी तरफ पुलिस कमिश्नर एस. श्रीवास्तव से संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि मामला काफी पुराना है और वह चैक करवाकर ही कुछ कह सकते हैं। अगर ऐसी बात हुई है तो वह जांच करवाएंगे। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: sister in law molested in Amritsar

More News From punjab

Next Stories

image
free stats