image

अमृतसर: मनोरोग विशेषज्ञ डा. हरजोत सिंह मक्कड़ के पास एक ऐसे 16 वर्षीय किशोर को उसके परिजन लेकर आए हैं जो ऑनलाइन गेम खेलकर अपनी सुध-बुध खो बैठा। 16 वर्षीय यह युवक कादियां का रहने वाला है। पब जी गेम के कुचक्र में फंसकर उसने 2 बार अपनी जान देने की कोशिश की। पहले छत से कूदा और फिर अस्पताल में अपना गला दबाकर मौत को गले लगाने की कोशिश की।

डा. मक्कड़ ने बताया कि किशोर का इलाज चल रहा है। उसकी कौंसलिंग की गई है व कुछ दवाएं दी गई हैं। उन्होंने बताया कि यह युवक रात रात जागकर ऑनलाइन गेम खेलता रहता था। इससे उसे यह लगने लगा था कि उसे कोई मार डालेगा। युवक के मां-बाप डर रहे हैं कि कहीं वह खुद को नुक्सान न पहुंचा ले। डा. मक्कड़ ने कहा कि 18 वर्ष की आयु से कम युवाओं को मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल न करने दें। अभिभावक अपने बच्चों पर नजर रखें कि वे मोबाइल पर क्या कर रहे हैं, क्योंकि ऑनलाइन गेम का ऐसा जाल बन चुका है जिससे युवा मुक्ति पाने में असमर्थ हो जाते हैं और फिर मौत को गले लगाने के विषय में सोचते हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: PUBG Game side effect

More News From punjab

IPL 2019 News Update
free stats