image

अमृतसर: पंजाब की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री प्रो लक्ष्मीकांता चावला ने बुधवार को पंजाब सरकार से मांग की है कि वह सरकारी और अर्धसरकारी कर्मचारियों के वेतन से 200 रुपये महीना विकास फंड काटना बंद करे। प्रो चावला ने कहा कि पंजाब के खाली खजाने को भरने के लिए विकास के नाम पर दो साल पहले पंजाब के सारे कर्मचारियों के वेतन से मासिक 200 रुपये काट रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को ध्यान रखना चाहिए कि कर्मचारी ठेके पर और थोड़े वेतन पर काम करते है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने छह विधायकों को कैबिनेट स्तर का दर्जा देकर  सरकारी खजाने पर बोझ बढ़ाया है उसकी भरपाई कहां से की जाएगी। उन्होंने कहा कि तुष्टिकरण  के नाम पर इन विधायकों को मोटा वेतन, ग्रांट बांटने के लिए करोड़ों रुपए, बंगले, बढ़िया कारें दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि सरकार का जनता के पैसों का राजनीतिक तुष्टिकरण करने के लिए उपयोग एकदम अनैतिक और जन विरोधी  कार्य है। उन्होंने मांग की कि पहले सरकार सरकारी और अर्धसरकारी कर्मचारियों के वेतन से 200 रुपये महीना विकास फंड काटना बंद करे। विधायकों और पूर्व विधायकों  के वेतन तथा पेंशन कम किए जाएं। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Prof Lakshmikanta Chawla statement on punjab govt 

More News From punjab

Next Stories
image

free stats