image

नई दिल्लीः 19 मई को अंतिम चरण के मतदान होने जा रहे हैं और इस चरण में पंजाब में मतदान होगा। पंजाब की सियासत में शुरु से ही उतार चढ़ाव देखे जा रहे हैं। ऐसे में पंजाह के सीएम अमरिंदर सिंह और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चल रही कोल्ड वॉर अब सबके सामने उभर कर आ रही है। सिद्धू की पत्नी लगातार कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब प्रभारी आशा कुमारी पर सिद्धू दंपत्ति का टिकट काटने को लेकर हमलावर हैं, ऐसे में नवजोत सिंह सिद्धू ने भी अपनी पत्नी का साथ दिया है, और कहा कि वो कभी झूठ नहीं बोलेंगी। 

आपको बता दें कि नवजोत कौर सिद्धू ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह एवं कांग्रेस की वरिष्ठ नेता आशा कुमारी पर अमृतसर से लोकसभा टिकट नहीं दिए जाने का आरोप लगा कर विवाद खड़ा कर दिया था। पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से जब उनकी पत्नी के आरोपों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मेरी पत्नी नैतिक रूप से इतनी मजबूत हैं कि वह कभी झूठ नहीं बोलेंगी। यही मेरा जवाब है।

कांग्रेस नेता एवं पूर्व विधायक नवजोत कौर सिद्धू ने 14 मई को आरोप लगाया था कि अमरिंदर सिंह एवं पार्टी के पंजाब मामलों की प्रभारी आशा कुमारी ने यह सुनिश्चित किया कि उन्हें अमृतसर संसदीय क्षेत्र से टिकट न मिले। उन्होंने आरोप लगााया कि मुख्यमंत्री ने दावा किया है वह अपने दम पर कांग्रेस को राज्य की 13 संसदीय सीटें दिला पाने में सक्षम हैं।

चंडीगढ़ लोकसभा सीट से भी टिकट चाह रहीं कौर ने अमृतसर में कहा था, “कैप्टन साहब और आशा कुमारी सोचते हैं कि मैडम सिद्धू (नवजोत कौर) सांसद का टिकट पाने के योग्य नहीं हैं। अमृतसर से मुझे टिकट इस आधार पर नहीं दिया गया कि अमृतसर में दशहरा के मौके पर हुए ट्रेन हादसे (पिछले साल अक्टूबर में जिसमें 60 लोग मारे गए थे) की वजह से मैं जीत नहीं पाऊंगी। कैप्टन एवं आशा कुमारी ने कहा था कि मैडम सिद्धू जीत नहीं सकती हैं। क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू और मुख्यमंत्री के बीच अंदर ही अंदर सुलग रहा यह गुस्सा पूर्व में कई मौकों पर सामने आया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Navjot singh sidhu statement on ticket war

More News From national

Next Stories
image

free stats