image

अमृतसर: पंजाब की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री प्रो. लक्ष्मीकांता चावला ने गृहमंत्री अमित शाह से मांग की है कि पाकिस्तान से आई 532 किलो हेरोइन मामले में गिरफ्तार नमक कारोबारी की अमृतसर केंद्रीय जेल हुई मौत की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए। प्रो. चावला ने सोमवार को श्री शाह को पत्र लिख कर कहा कि पंजाब समेत देश के सभी प्रांतों में पुलिस हिरासत में मौतों की खबरें लगातार मिलती रहती हैं। अगर जेल में बंद कैदी की मौत होती है तो इसके लिए सीधे-सीधे जेल अधिकारी जिम्मेवार हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस हिरासत में कैदियों पर थर्ड डिग्री टार्चर का प्रयोग किया जाता है जिसके कारण कैदियों की मृत्यु हो जाती है। अब पुलिस हिरासत में अमृतसर के नमक व्यापारी गुर¨पदर सिंह की जेल में हुई मौत कई सवालों के घेरे में है और यह राज्य सरकार तथा पुलिस विभाग पर एक और बड़ा धब्बा है। उन्होंने कहा कि जेल में उसकी मौत से जेल प्रबंधन सहित पुलिस प्रशासन एवं सरकार पर भी सवाल खड़े होते हैं कि इतने हाई प्रोफाइल तस्करी के मामले मे गुरपिंदर के बेहतर इलाज की व्यवस्था क्यों नहीं की गई।

प्रो. चावला ने कहा कि भीड़ द्वारा लोगों को पीट पीट कर मारने की घटनाओं को रोकने के लिए ‘मॉब लिंचिंग’ के लिए नया कानून बनाया जा रहा है। इसी तर्ज पर ‘पुलिस लिंचिंग’ में कैदियों के मारे जाने की घटनाओं को रोकने के लिए कानून बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस पुलिस या जेल अधिकारी की हिरासत में कोई कैदी मारा जाता है, चाहे उसे आत्महत्या कहा जाए, उन पर हत्या का मामला चलना चाहिए। केवल इसी से हिरासती मौतें रुक सकती हैं। उन्होंने कहा कि जन हित में केंद्र सरकार यह बताए कि पिछले दो वर्षों में देश के किस किस राज्य में कितने लोग पुलिस की पिटाई, पुलिस हिरासत या अन्य सरकारी हिरासत में मारे गए। 

उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय एकीकृत चैक पोस्ट अटारी सीमा पर पाकिस्तान से आयातित नमक की खेप से 532 किलो हेरोइन बरामद होने के मामले में सीमा शुल्क विभाग द्वारा गिरफ्तार किए गए अमृतसर के व्यापारी गुर¨पदर सिंह की रविवार को अमृतसर केंद्रीय कारागार में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। उसकी मौत से हेरोइन तस्करी के इस मामले की जांच में रुकावट आ सकती है। जेल प्रबंधकों अनुसार गुर¨पदर सिंह सुबह टूथब्रश करने लगा तो उसके मुंह से खून आने लगा तथा अस्पताल में उसकी मौत हो गई। वह शुगर का मरीज था। पांच सौ बत्तीस किलो हेरोइन का मामला पंजाब का ही नहीं बल्कि देश में हेरोइन का सबसे बड़ा मामला है और इसमें कई लोगों के नाम सामने आने वाले थे। स्पेशल टास्क फोर्स भी इस मामले में पकड़े गए जम्मू कश्मीर के तारिक अहमद लोन सहित नौ आरोपियों को पूछताछ के लिए प्रोडक्श्न वारंट पर गिरफ्तार करने की योजना बना रही थी। गुर¨पदर सिंह दो जुलाई से जेल में बंद था। सेहत बिगड़ने पर उसे दो बार अस्पताल में दाखिल करवाया जा चुका था। उसका भाई गुरमिंदर सिह भी इसी मामले में अमृतसर जेल में बंद है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Lakshmikanta Chawla Statement on Main accused dies in police custody

More News From punjab

Next Stories
image

free stats