image

अमृतसरः लोकसभा चुनावों की आचार संहिता और कड़े सुरक्षा प्रबंधों के दावों के बावजूद मंगलवार सुबह लगभग 11 बजे एक गैंग ने बस अड्डे में अंधाधुंध फायरिंग की गई। अमृतसर मिनी बस ऑप्रेटर यूनियन के सैक्रेटरी बलदेव सिंह बब्बू के बेटे दिलजान सिंह और एक कंडक्टर मक्खन सिंह को गोली मारी गई है। उनकी हालत स्थिर है। आरोप है कि रंगदारी देने का विरोध कर रहे ट्रांसपोर्टरों पर यह हमला कपूरथला जेल में बंद गैंगस्टर राणाकदोवालियां के साथियों ने किया। अंदर पुलिस चौकी भी है, लेकिन पुलिस किसी को पकड़ नहीं पाई। फायरिंग के कारण बस स्टैंड में भगदड़ मच गई। महिलाएं और बच्चे चीखने लगे। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागे। गैंग के निशाने पर ट्रांसपोर्टर और उनके कारिंदे थे।

अमृतसर मिनी बस ऑप्रेटर यूनियन के सैक्रेटरी बलदेव सिंह बब्बू ने बताया कि गैंगस्टर रणजीत सिंह उर्फ राणा कंदोवालिया के साथी बस स्टैंड से हफ्ता वसूली करते हैं। उनकी यूनियन के अलावा कुछ ट्रांसपोर्टर इसका विरोध कर रहे हैं। उन्हें कई दिनों से धमकियां मिल रही थीं। मंगलवार को यह गैंग एक बार आया तो दूसरे गुट के लोग इकट्ठे हो गए थे। तब वह चला गया। इसके बाद वह दोबारा आया। उनके अनुसार,
सुबह 11 बजे उनका बेटा दिलजान सिंह बस स्टैंड के अंदर पठानकोट काऊंटर पर पहुंचा तो सामने से गैंगस्टर राणा का पिता अपने साथीयों  समेत कई लोगों को साथ लेकर आया। उनके बेटे को देखते ही कहा कि वह जा रहा है सैक्रेटरी का बेटा, पकड़ लो। उनका बेटा भागने लगा तो गोलियां चला दीं। दिलजान को  बाजू पर गोली मारी गई है। बाबा बुड्ढा ट्रांसपोर्ट के कंडक्टर मक्खन सिंह पर भी फायरिंग की। वह भागा तो टांग पर गोली मार दी। 

चश्मदीद के अनुसार, 15 मिनट तक हमलावर बस स्टैंड पुलिस चौकी के पास गोलियां चलाते रहे। पुलिस ने कुछ नहीं किया। फायरिंग की आवाज सुनकर दूसरी ट्रांसपोर्ट कंपनियों के लोग दोबारा इकट्ठा हुए तो हमलावर भागने लगे। एक हमलावर को पकड़कर लोगों ने पुलिस को सौंपा है। डी.सी.पी. भूपिंदर सिंह, मुखविंदर सिंह भुल्लर, ए.डी.सी.पी. जगजीत सिंह वालिया थाना रामबाग के एस.एच.ओ. मेहर सिंह, चौकी बस स्टैंड के इंचार्ज सतनाम सिंह फोर्स लेकर पहुंचे। दोनों घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। 

जेल में बंद है गैंगस्टर राणा कंदोवालिया

गांव कंदोवाल निवासी गैंगस्टर रणजीत सिंह उर्फ राणा इस समय कपूरथला जेल में बंद है। उस पर पुलिस पर हमला करने के अलावा हत्या प्रयास के केस दर्ज हैं। राणा को एस.टी.एफ. ने पकड़ा था। जेल में ही बंद कुख्यात गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के साथ राणा की दुश्मनी चल रही है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Firing at amritsar Bus stand

More News From punjab

Next Stories
image

free stats