image

अमृतसर : पंजाब में नशे को खत्म करने के लिए पुलिस द्वारा अब पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ-साथ केंद्र की एजेंसियों का भी सहयोग लिया जा रहा है। तस्करों की जानकारी एक-दूसरे के साथ शेयर करने के लिए तस्करों का सैंट्रल गवर्नमैंट डाटा बेस तैयार किया जाएगा। यह जानकारी पंजाब पुलिस के डायरैक्टर जर्नल दिनकर गुप्ता ने केंद्र और पंजाब सरकार की एजेंसियों व पुलिस अधिकारियों की बैठक के बाद मीडिया को दी है। 

उन्होंने कहा है कि पंजाब में नशा पकड़ने के लिए मुहिम चलाई गई है। इस मुहिम में पुलिस को कई बड़ी सफलता हासिल हुई हैं। तस्करों को पकड़ने के बाद ज्यादातर मामलों में उनके लिंक दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल और अन्य राज्यों के साथ निकल रहे हैं। ऐसे में पंजाब पुलिस को आगे की कार्रवाई करने में मुश्किल पेश आती है। इसी मुश्किल का हल निकालने के लिए बुधवार को अमृतसर में बड़े स्तर पर मीटिंग बुलाई गई। इस मीटिंग में नशे के साथ-साथ सुरक्षा संबंधी कई बड़े फैसले लिए गए हैं। जिससे भविष्य में पंजाब को नशा मुक्त करने में काफी सहयोग मिलेगा। पंजाब के साथ-साथ दूसरे राज्यों में सक्रि य तस्करों की सूची तैयार कर उसे डाटा बेस में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा पाकिस्तान में बैठे तस्करों पर नुकेल कसने के लिए भी विचार-विमर्श किया गया। 

उन्होंने कहा कि कोकीन और आशीष जैसा महंगा नशा भी पंजाब में बिक रहा है। पंजाब पुलिस द्वारा पहले भी इस नशे की खेप को कई बार पकड़ा गया है। हाल ही में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो और एसटीएफ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे नशा तस्करी के नैटवर्कका भंडाफोड़ किया गया है। कस्टम विभाग द्वारा अटारी सीमा पर पकड़ी गई 532 किलो हैरोइन की खेप के बारे में उन्होंने कहा कि इसकी जांच में पंजाब पुलिस की भूमिका रही है। इसके तार भी अफ्रीका और अमरीका तक जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि बॉर्डर एरिया में ऐसे कई परिवार हैं जिनकी कई पीढ़ियां तस्करी के धंधे में जुड़ी हुई हैं। पुलिस और सुरक्षा एजैंसियों को चकमा देने के लिए यह परिवार अब बॉर्डर के गांव से उठकर अमृतसर, जालंधर और अन्य कई शहरों में बस चुके हैं। उन पर भी पुलिस की पैनी नजर है। 

उन्होंने कहा कि तस्कर कभी भी एक रूप से तस्करी नहीं कर रहे। बॉर्डर के बाद दिल्ली के रास्ते से तस्करी का मामला सामने आया। मगर कोकीन के मामले में कोरियर से विदेश से खेप मंगवाई गई। कुछ मामलों में एलओसी जम्मू-कश्मीर के रास्ते से भी तस्करी हुई है। पंजाब में सुरक्षा पर बोलते हुए डी.जी.पी. ने कहा है कि त्यौहारों के सीजन में पुलिस द्वारा कड़े सुरक्षा प्रबंध किए जा रहे हैं। पंजाब में अतिरिक्त पुलिस बल को भी तैनात किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी पुलिस की नजर है। अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: DGP statement on Central database

More News From punjab

Next Stories
image

free stats