image

लखनऊः उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को धार देने की कवायद में जुटी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि वह चुनाव लड़ने की बजाय संगठन की मजबूती के लिये दी गयी जिम्मेदारी को निभाना पसंद करेंगी। कांग्रेस की जमीनी हकीकत को परखने और उसकी मजबूती के उपायों को लेकर पिछले तीन दिनों से बैठक कर रही प्रियंका ने नेताओं और कार्यकर्ताओं से साफ तौर पर कहा कि वे उन्हें किसी सीट से चुनाव लड़ने के लिये न कहें क्योंकि अगर वह चुनाव लड़ेंगी तो बाकी सीटों पर ध्यान नहीं दे पायेंगी।

Read More अमेरिका ने इस कारण अपने नागरिकों को पाकिस्तान न जाने की दी सलाह

Read More  सऊदी अरब के शहजादे ने पाक के विदेश मंत्री को दिए इतने लाख रुपए के बहुमूल्य तोहफे

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को पुनर्जीवित करने के लिये दिन-रात एक कर रहीं प्रियंका गांधी ने यह भी कहा है कि उन्हें लगता है कि पार्टी को राज्य में अपने पैरों पर खुद खड़ा होना चाहिये।गोरखपुर से आये कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने प्रियंका से मुलाकात करने के बाद बताया कि उन्होंने वाड्रा को लखनऊ लोकसभा सीट से गृह मंत्री राजनाथ सिंह का मुकाबला करने का सुझाव दिया ताकि इससे मतदाताओं में एक संकेत जाये और वाराणसी और गोरखपुर जैसी वीवीआईपी सीटों पर भी इसका असर पड़े।

Read More इस देश में अगर आपने स्कर्ट पहनी महिला की खींची तस्वीर, तो 

Read More गवर्नर पर हुआ हमला 

उन्होंने बताया कि इस सुझाव पर प्रियंका ने कहा कि सभी नेता मुझे अपने इलाके से चुनाव लड़ने के लिये बुला रहे हैं, लेकिन मेरे सामने एक बड़ा काम है और मुझे इसे पूरा करना है। दिलचस्प है कि प्रियंका को कांग्रेस के नेताओं ने लखनऊ के अलावा फतेहपुर, गोरखपुर और वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ने का सुझाव दिया लेकिन सुश्री वाड्रा ने इन सुझावों को यह कहते हुये नहीं माना कि अगर वह चुनाव लड़ेंगी तो अन्य सीटों पर ध्यान नहीं दे सकेंगी।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Will Contest The Elections Then How To Focus On The Other Seats: Priyanka

More News From national

free stats