image

शिमला : हिमाचल में पहली मर्तबा हो रहे द ग्रेट खली शो को लेकर जारी असमंजस खत्म हो गया है। रेसलिंग के शेडय़ूल खेल न होने की वजह से इसके खर्च को लेकर जारी असमंजस को स्वयं वन एवं युवा सेवा एवं खेल मंत्री गोविंद ठाकुर ने खत्म किया। उन्होंने कहा कि द ग्रेट खली शो का खर्च सरकार नहीं आयोजक उठाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता के आयोजन के लिए प्रदेश सरकार का नैतिक समर्थन रहेगा। शो से होने वाली आमदन राज्य खेल परिषद व मुख्यमंत्री राहत कोष में जाएगी।

READ NEWS :जब पति काम पर चला जाता तो कांग्रेस नेता महिला से करता था गंदा काम, आखिर तंग आकर...

पता चला है कि शो में 15 विदेशी रेसलरों समेत 39 पहलवान भाग लेंगे। गोविंद ठाकुर ने साफ किया कि प्रदेश सरकार इस आयोजन के लिए कोई वित्तीय मदद नहीं करेगी। खेल मंत्री ने बताया कि देश.विदेश के कई नामी रेसलर मंडी और सोलन में लोगों का मनोरंजन करेंगे। सनद रहे कि मंडी में 4 तथा सोलन में 7 जुलाई को द ग्रेट खली शो अर्थात डब्लूडब्लूई रेसलिंग होनी है। खेल मंत्री ने कहा कि आयोजन से विश्व भर में हिमाचल का नाम होगा।

READ NEWS : छात्रा ने पिता की रिवाल्वर से खुद को मारी गोली, कहा- मम्मी-पापा मुझे माफ कर देना

उन्होंने बताया कि ग्रेट खली को प्लास्टिक मुक्त हिमाचल अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाने का फैसला लिया गया है। कहा कि पर्यटन और खेल का ब्रांड एंबेसडर किसे बनाया जाएगा, इसका फैसला मुख्यमंत्री लेंगे। उन्होंने बताया कि परशुराम अवार्ड जुलाई महीने में दिए जाएंगे। गौरतलब है किप्रदेश में 4 और 7 जुलाई को ही द ग्रेट खली रिटर्न्‍स के शो होंगे। कांटिनेंटल रेसलिंग इंटरटेनमेंट सीडब्ल्यूई के बैनर तले द ग्रेट खली रिट्र्न्स नाम से रेसलिंग इवेंट हिमाचल में होने जा रहा है। इसके दो शो होंगे। शो में देसी और विदेशी रेसलर्स का जमावड़ा देखने को मिलेगा। भारत से 24 और विदेशों से 15 रेसलर्स दोनों इवेंट में एक दूसरे के खिलाफ रेसलिंग रिंग में भिड़ते हुए नजर आएंगे।

READ NEWS : पत्थरबाजों को काबू करती नजर आएंगी अब महिला कमांडो, दी गई है स्पैशल ट्रेनिंग

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: the organizers will spend expenditure of the great khali show

Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats