Advertisement
image

लंदन : जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला ने ब्रिटेन शासित उत्तरी आयरलैंड और आयरिश गणराज्य से जुड़े क्षेत्र के बीच खुली सीमा को कश्मीर मुद्दे के लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प बताया है। लंदन यात्रा पर आए नेकां नेता ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को यह अवश्य महसूस करना चाहिए कि समस्या का कोई सैन्य हल नहीं है। उन्होंने कल लंदन में स्कूल ऑफ आरिएंटल एंड अप्रीकन स्टडीज द्वारा आयोजित एक चर्चा के दौरान कहा , ‘‘ आयरलैंड की तरह दोनों कश्मीर के लिए एक मात्र रोडमैप एक आसान सीमा और स्वायत्ता है. ’’ अब्दुल्ला ने कहा कि यदि परमाणु शक्ति संपन्न दोनों राष्ट्र यह महसूस करते हैं कि जो कुछ भी समाधान निकल कर आएगा उसे वे स्वीकार करेंगे , तो कश्मीर का हल हो सकता है. लेकिन भारत , पाकिस्तान , जम्मू कश्मीर और लद्दाख के कम से कम 70 - 80 फीसदी लोगों को इसे स्वीकार करना होगा।  
   गौरतलब है कि आयरलैंड शैली का हल 1920 का है , जहां दोनों देशों के लोगों को एक दूसरे के क्षेत्र में जाने के लिए न्यूनतम पहचान दस्तावेजों की जरुरत होती है। उन्होंने कहा कि सख्ती का प्रयोग कर क्षेत्र के लोगों का दिल नहीं जीता जा सकता। 

 

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: the best solution to the kashmir issue is open border on the ukireland lines farooq abdullah


advertisement
free stats