image

नई दिल्लीः लोकसभा में आज हरियाणा से कांग्रेस के एक सदस्य ने पंजाब और हरियाणा के बीच सतलुज-यमुना लिंक एसवाईएली नहर के विषय को उठाया जिस पर पार्टी के ही पंजाब के सांसदों के साथ उनका विरोधाभास दिखाई दिया।

प्रश्नकाल में कांग्रेस के दीपेंद्र हुड्डा ने अपूर्ण सिंचाई परियोजनाओं से संबंधित प्रश्न के दौरान पूछा कि पिछले कई सालों से यह मामला लंबित है और नहर का काम कब पूरा होगा। उन्होंने पूछा कि एसवाईएल का हरियाणा का हिस्सा बन चुका है और मंत्री बताएं कि पंजाब का हिस्सा कब तक बन जाएगा।

इस प्रश्न पर जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी के जवाब देने से पहले ही पंजाब से कांग्रेस के सुनील जाखड़ अबोहरी, रवनीत सिंह बिट्टू लुधियाना और गुरजीत सिंह औजला अमृतसरी अपने स्थान पर खड़े होकर कुछ विरोध प्रकट करने लगे।

जाखड़ को कहते सुना गया कि मंत्री जवाब दें, उससे पहले बता दें कि पंजाब के पास देने के लिए पानी नहीं है। हालांकि गडकरी ने अपने जवाब में कहा कि यह विषय अब भी न्यायालय में विचाराधीन है। सतलुज और यमुना नदियों को जोड़ने वाली एसवाईएल परियोजना पर पंजाब और हरियाणा राज्यों के बीच पिछले कई साल से विवाद चल रहा है। मामला फिलहाल उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन है।



DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: SYL's issue raised in Lok Sabha

free stats