image

बुढलाड़ा : शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने आज कांग्रेसी मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को सिखों की भावनाओं का अपमान करने तथा 1984 सिख कत्लेआम में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की भूमिका का पर्दाफाश करने से इंकार करने के लिए सिख समुदाय से माफी मांगने तथा मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने के लिए कहा। 

सरदूलगढ़ व मानसा में बठिंडा सांसद तथा केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री बीबी हरसिमरत कौर बादल समेत पार्टी के वर्करों से मीटिंग करने के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए अकाली दल के अध्यक्ष ने कहा कि यह बहुत ही निदंनीय है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह सिख भाईचारे के खिलाफ स्टैंड ले रहे हैं। उन्होंने राजीव गांधी के विरुद्ध अपनी नाराजगी आज लुधियाना में व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि किसी भी सिख से ऐसे व्यवहार की कतई उम्मीद नहीं की जा सकती, कम से कम पंजाब के मुख्यमंत्री से तो बिलकुल भी नहीं।

सुखबीर बादल ने मुख्यमंत्री से कहा कि वह गांधी परिवार तथा अपनी कुर्सी बचाने की जगह, सिख समुदाय का साथ दें तथा इसकी 1984 कत्लेआम के पीड़ितों के लिए इंसाफ लेने में सहायता करें। बतौर सिख तथा पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर यह कैप्टन अमरिंदर सिंह का कर्त्तव्य है कि वह गांधी परिवार का बहिष्कार करें तथा 1984 कत्लेआम के सभी पीड़ितों को इंसाफ दिलाने की लड़ाई में सिख संगत का साथ दें।  सुखबीर बादल ने कहा कि वर्करों से अपील की कि लोकसभा चुनावों के साथ-साथ गांवों में पंचायती चुनाव अमन-शांति व भाईचारक सांझ को कायम रखते मजबूती से लड़े जाएं। उन्होंने कहा कि हाकम गुट कांग्रेस पार्टी द्वारा चुनाव दौरान की जा रही धक्केशाही का अकाली दल मुंहतोड़ जवाब देगा।  

अकाली दल के अध्यक्ष ने सरदूलगढ़, बुढलाड़ा तथा मानसा में पार्टी वर्करों के छोटे-छोटे समूहों से बातचीत की। इन मीटिंगों में अन्य के अलावा सीनियर नेताओं में सांसद बलविंदर सिंह भूंदड़, सरदूलगढ़ के विधायक दिलराज सिंह भूंदड़, अकाली दल के कार्यालय सचिव चरनजीत सिंह बराड़, बुढ़लाडा के डा. निशान सिंह तथा मानसा के ग्रामीण तथा शहरी अध्यक्ष गुरमेल सिंह तथा प्रेम सिंह अरोड़ा शामिल थे। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: sukhbir badal targeted cm captain

free stats