image

हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी गजलाें के लिए मशहूर गजल किंग यानी जगजीत सिंह 8 फरवरी 1941 को श्री गंगानगर, राजस्थान में एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे। जगजीत सिंह की रुचि थी गायकी में थी। कॉलेज के दिनों में जगजीत सुबह 5 बजे रियाज शुरू कर देते थे, वह हर रोज 2 घंटे रियाज करते थे। उनकी इस मेहनत के कारण वह दुनिया भर में गजलाें के बादशाह कहलाए। ताे आइए जाने इनकी बर्थ एनिवर्सरी पर इनके बारे में बहुत कुछ खास।

यह भी पढ़ें:- Photos: नेहा धूप‍िया और अंगद बेदी का बेटी मेहर संग नजर आया दिलकश अंदाज  

यह भी पढ़ें:-   टाेटल धमाल के गाने मुंगडा के रीमिक्स काे सुन गुस्से से भड़की उषा मंगेशकर, कहा...

जगजीत सिंह अपनी गज़ल को अलग अंदाज में गाने के लिए मशहूर हुए। बताते चलें कि जन्म के वक्त उनका नाम जगजीवन सिंह था। उन्होंने सरकारी स्कूल और खालसा कॉलेज से पढ़ाई की, उनके पिता चाहते थे कि जगजीत इंजीनियर बने। पढ़ाई के बाद जगजीत सिंह ने ऑल इंडिया रेडियो जालंधर में एक सिंगर और म्यूजिक डायरेक्टर के रूप में काम शुरू कर दिया। उसके बाद कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी हरियाणा से पोस्ट ग्रेजुएट की पढ़ाई भी की। इन्हाेंने गुरुद्वारे में पंडित छगनलाल मिश्रा और उस्ताद जमाल खान से क्लासिकल संगीत की शिक्षा ली।

यह भी पढ़ें:-  Video: सपना चौधरी का ये नया अवतार देख आपके भी उड़ जाएंगे हाेश

यह भी पढ़ें:-  बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम गंभीर हालत के चलते पहुंचे Hospital, सामने आई तस्वीर

अपने सपने काे पूरा करने के लिए जगजीत सिंह मार्च 1965 में अपने परिवार को बिना बताए मुंबई चले आए। यहां स्ट्रगलिंग के समय में उन्होंनं 200 रुपये के लिए भी गाया। मुंबई में जगजीत सिंह की मुलाकात एक बंगाली महिला चित्रा दत्ता से हुई और दोनों 1969 में शादी के बंधन में बंध गए। इन्हें एक बेटा विवेक भी हुआ, साल 1976 में जगजीत सिंह और चित्रा की एल्बम 'The Unforgettable' रिलीज हुई, जिसे काफी सराहा गया। इसकी वजह से ये दोनों कपल स्टार बन गए, एल्बम का गीत 'बात निकलेगी' काफी पसंद किया गया।

यह भी पढ़ें:- गौरी खान की पार्टी के बाद फिर से एक साथ डिनर डेट पर निकले अर्जुन-मलाइका

यह भी पढ़ें:- Photos: सपना चौधरी का ये ग्लैमरस अंदाज सोशल मीडिया पर लगा रहा है आग

इसके बाद इनका 1980 में आया हुआ एल्बम 'वो कागज की कश्ती' बेस्ट सेलिंग एल्बम बन गया था। उस जमाने में जगजीत सिंह गजल किंग बन गए थे। प्राइवेट एल्बम के साथ-साथ जगजीत ने फिल्मों में भी कई गजलें गाईं, उनमें 'प्रेम गीत', 'अर्थ', 'जिस्म', 'तुम बिन', 'जॉगर्स पार्क' जैसी फिल्में प्रमुख हैं। लेकिन एक दिन इनके जीवन में ऐसा भी आया जिसकी वजह से जगजीत सिंह हमेशा के लिए टूट गए, क्याेंकि मात्र 18 साल की उम्र में एक सड़क दुर्घटना में इनके बेटे की मौत हो गई थी। इसकी वजह से उनकी पत्नी चित्रा सिंह काफी अपसेट रहने लगी थीं और एक वक्त के बाद उन्होंने गाना तक छोड़ दिया था। 

यह भी पढ़ें:- श्रीदेवी संग अमिताभ बच्चन ने शेयर की दिल छू जाने वाली तस्वीर, क्यूट लुक में नजर आए ये दो खान

यह भी पढ़ें:- ग्रीन गॉगल, ब्लू कुर्ता के साथ तैमूर का ये अंदाज हर तरफ मचा रहा है धमाल  

जगजीत सिंह को साल 2003 में भारत सरकार की तरफ से 'पद्म भूषण' सम्मान से नवाजा गया था। साल 2011 में जगजीत सिंह को यूके में गुलाम अली के साथ परफॉर्म करना था, लेकिन ब्रेन हेमरेज की वजह से इलाज के बीच 10 अक्टूबर 2011 को इन्हाेंने दुनिया काे अलविदा कह दिया। लेकिन इनकी गज़ल का नशा आज भी लाेगाें के सिर चढ़ कर बाेलता है। ये अपने फैंस के दिलाे में अपनी गज़ल के कारण हमेशा जिंदा रहेंगे। 

यह भी पढ़ें:-  यहां जानिए Single रहने के काैन से फायदे बता नेहा कक्कड़ ने फैंस काे किया खुश

यह भी पढ़ें:- आखिर क्यों करीना कपूर को हद से ज्यादा बेटे तैमूर की चिंता सताती है

यह भी पढ़ें:- क्या ये है कलंक का फर्स्ट लुक, आलिया ने तस्वीर शेयर कर कहा...

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Singer jagjit singh birth Anniversary

More News From entertainment

Next Stories
image

free stats