image

लंदनः पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा है कि वह अपनी बीमार पत्नी को यहां अल्लाह के भरोसे छोड़ रहे हैं और जेल में डाले जाने या फांसी पर चढ़ाए जाने की परवाह किए बगैर पाकिस्तान लौट रहे है। इन दिनों शरीफ अपनी बीमार पत्नी कुलसुम के पास लंदन में है। उनके कल पाकिस्तान लौटने की उम्मीद है। अपनी बेटी मरियम नवाज के साथ कल संवाददाताओं को संबोधित करते हुए पीएमएल-एन प्रमुख ने कहा था कि वह अपनी पत्नी को फिर से आंखे खोलते देखने की कामना करते हैं और राष्ट्र से उनके शीघ्र स्वस्थ होने के लिए दुआ करने का अनुरोध करते है। गौरतलब है कि पनामा पेपर लीक के बाद उनके खिलाफ चल रहे भ्रष्टाचार के तीन मामलों में एर्क एवेनफील्ड संपत्ति मामली में उन्हें कुछ ही दिन पहले एक भ्रष्टाचार रोधी अदालत ने 11 साल कैद की सजा सुनाई है। शरीर्फ 68 ने कहा कि वह जेल की परवाह किए बगैर लौट रहे है। वह इस बात को लेकर दुखी हैं कि वह अपनी बीमार पत्नी को वेंटीलेर्ट जीवन रक्षक प्रणाली पर छोड़ कर जा रहे है।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं वोट को सम्मान देने के वादे को पूरा करने के लिए लौट रहा हूं।’’ देश में 25 जुलाई को आम चुनाव है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि वह अब नहीं रुकेंगे, चाहे उन्हें जेल में डाल दिया जाए या फांसी दे दी जाए। शरीफ ने एवेनफील्ड मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि फैसले में यह लिखा हुआ है कि उन्हें भ्रष्टाचार के आरोपों से दोषमुक्त कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि फैसले में यह लिखा जाना चाहिए था कि उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का कोई साक्ष्य नहीं पाया जा सका। क्या ऐसा कोई पाकिस्तानी है जिसकी तीन पीढ़ियों को इस तरह की जवाबदेही का सामना करना पड़ा हो? शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान के लोगों ने एक बार फिर से न्याय का ‘असली चेहरा’ देखा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान की हर संस्था का सम्मान किया है। उन्होंने देश को 1998 में परमाणु शक्ति संपन्न बनाया। 
    
उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के इस बयान को लेकर उनकी आलोचना की कि वह लंदन से नहीं लौटेंगे। शरीफ ने कहा, ‘‘जो लोग मुङो विदेश यात्र प्रतिबंध सूची में रख रहे हैं उन्हें जानना चाहिए कि मैं वापस आ रहा हूं। मैं और मरियम वापस आ रहे हैं। यह मेरा उनके लिए संदेश है कि मैं उनमें से नहीं जो भाग जाउंगा।’’ उन्होंने कहा कि पूर्व तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ फरार हैं और उन्हें वापस लाने की किसी के पास ताकत नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं देश का कर्ज चुकाने आ रहा हूं जिसने मुझे तीन बार प्रधानमंत्री चुना।’’ शरीफ की उत्तराधिकारी समझी जा रही मरियम नवार्ज 44ी ने कहा कि अपनी मां को इस स्थिति में छोड़ कर जाने जैसा कोई और दर्द नहीं हो सकता लेकिन एक राष्ट्रीय कर्तव्य है और हमें अवश्य ही यह अहम यात्र करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक अहम मोड़ पर खड़ा है और यह निर्णायक घड़ी है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: sharif is returning to pakistan after leaving his wifes trust

free stats